भारतीय रेलवे: रेलवे ट्रेन टिकट रद्द करने पर शुल्क क्यों लेता है? और अधिक जानकारी प्राप्त करें…

Prakash Gupta
2 Min Read

एलपीजी गैस ई-केवाईसी: देश में एलपीजी गैस सिलेंडर पर सब्सिडी दी जाती है। लेकिन यह एक प्रक्रिया है जिससे आपको गुजरना होगा। दरअसल, अब आपको एलपीजी गैस सिलेंडर पर सब्सिडी पाने के लिए ई-केवाईसी करानी होगी।

इसके लिए आप अपनी संबंधित गैस एजेंसी पर जाकर ई-केवाईसी करा सकते हैं। वहीं, ई-केवाईसी नहीं करने वाले लाभार्थियों की सब्सिडी रोकी जा सकती है। भारत सरकार के तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के निर्देशानुसार सब्सिडीयुक्त गैस मूल्य का लाभ लेने वाले उपभोक्ताओं के लिए ई-केवाईसी अनिवार्य कर दिया गया है।

आपको बता दें कि ई-केवाईसी का यह काम गैस एजेंसी के ऑफिस में सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक किया जा सकता है. सरकार के निर्देश पर 25 नवंबर से ई-केवाईसी शुरू की गई थी, जो 31 दिसंबर तक जारी रहेगी. ध्यान रखें कि अगर आप गैस सब्सिडी लेना चाहते हैं तो 31 दिसंबर तक ई-केवाईसी करा लें.

इतने सारे लोगों ने e-KYC करा लिया है.

भारत गैस की स्थानीय उमा भारत गैस एजेंसी के संचालक सत्येन्द्र सिंह के अनुसार मंत्रालय के निर्देश के अनुपालन में उपभोक्ताओं का ई-केवाईसी किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि उनकी एजेंसी से जुड़े ऐसे 15,500 उपभोक्ताओं में से अब तक सिर्फ 500 ने ही ई-केवाईसी कराया है.

आधार कार्ड बहुत जरूरी है.

उन्होंने यह भी बताया कि उनकी एजेंसी के वाहन जो गैस आपूर्ति के लिए सिलेंडर ले जाते हैं, उन्हें सब्सिडी प्राप्त करने के लिए निर्धारित समय अवधि के भीतर ईकेवाईसी करने का निर्देश दिया गया है। ऐसे में उपभोक्ताओं के पास आधार कार्ड का होना बेहद जरूरी है. इसके पीछे कारण यह है कि आधार नंबर दर्ज करना होगा और बायोमेट्रिक मशीन पर अंगूठे का निशान लगाना होगा।

Share This Article