वारंटी बनाम वारंटी: गारंटी और वारंटी के बीच क्या अंतर है? खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखें

Prakash Gupta
2 Min Read

वारंटी बनाम वारंटी: आजकल लोग ज्यादातर ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं और जैसे-जैसे लोगों की आमदनी बढ़ रही है, वे जरूरत के हिसाब से सभी सामान खरीद रहे हैं। इसलिए लोग इसे खरीद रहे हैं. लेकिन लोग शॉपिंग करते समय कई बातों पर ध्यान नहीं देते हैं।

ऐसे में अगर आप कभी भी ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं या बाजार से कुछ खरीदते हैं तो आपको उस उत्पाद पर गारंटी या वारंटी दी जाती है। ये दो शब्द तो सभी ने सुने होंगे, लेकिन क्या आप जानते हैं इनका असल मतलब क्या है? दुनिया में ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें आज भी गारंटी और वारंटी के बीच का अंतर नहीं पता है।

जब आप कोई उत्पाद खरीदते हैं तो आप अक्सर गारंटी और वारंटी शब्द सुनते हैं। कई लोग ये दोनों शब्द रोज सुनते हैं, लेकिन उन्हें इनके बारे में पूरी जानकारी नहीं होती और वो इन दोनों को एक ही तरह से समझते हैं। अगर आप भी इन दोनों शब्दों के बीच का अंतर नहीं जानते हैं तो आज हम आपको इनके बीच का अंतर समझाने जा रहे हैं। वारंटी और गारंटी के बीच क्या अंतर है?

गारंटी क्या है?

यदि आप कोई उत्पाद खरीदते हैं और आपको उस पर गारंटी दी जाती है, तो इसका मतलब है कि यदि उत्पाद क्षतिग्रस्त हो गया है, तो आपको वह उत्पाद बदल दिया जाएगा। गारंटी का अर्थ है उत्पाद का प्रतिस्थापन।

वारंटी क्या है?

वारंटी, गारंटी से थोड़ी अलग होती है। एक ओर जहां गारंटी में आप उत्पाद खराब होने पर उसे बदलवाते हैं, वहीं वारंटी में क्षतिग्रस्त उत्पाद की मरम्मत कराई जाती है। लेकिन इसके लिए आपका क्षतिग्रस्त उत्पाद वारंटी अवधि में होना चाहिए तभी उसे ठीक किया जा सकता है।

इसके साथ ही अगर आप वारंटी का लाभ लेना चाहते हैं तो आपके पास सामान के बिल के साथ वारंटी कार्ड भी होना चाहिए। इसके बिना दुकानदार सामान की मरम्मत करने से इंकार कर सकता है।

Share This Article