आधार कार्ड बनवाने के नियम बदल गए- अब एसडीएम से कराना होगा वेरिफिकेशन, जानें- नया नियम

Prakash Gupta
2 Min Read

आधार कार्ड: आधार कार्ड आज के समय में महत्वपूर्ण दस्तावेजों में से एक है। प्रत्येक भारतीय नागरिक के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है। वहीं, 18 साल से अधिक उम्र वालों के लिए आधार कार्ड बनाने से जुड़े नियमों में बदलाव किया गया है। इस बदलाव के तहत अब 18 साल से अधिक उम्र के निवासियों का आधार सत्यापन के बाद ही बनेगा।

एडीएम और एसडीएम के सत्यापन के बाद ही 18 साल से अधिक उम्र के लोगों का आधार कार्ड बन सकेगा। अब आपको पासपोर्ट की तरह वेरिफिकेशन प्रक्रिया से गुजरना होगा. ऐसे लोगों के लिए आधार नामांकन की सुविधा केवल कुछ चुनिंदा आधार केंद्रों पर ही उपलब्ध होगी, जिनमें मुख्य रूप से प्रधान डाकघर, उप डाकघर और प्रत्येक जिले में प्राधिकरण द्वारा संचालित आधार सेवा केंद्र शामिल हैं।
सेवा पोर्टल पर जमा आवेदनों का सत्यापन एसडीएम अपने स्तर से करेंगे। जमा किए गए सभी दस्तावेजों का भौतिक सत्यापन किया जाएगा। अगर सबकुछ सही पाया गया तो आधार जारी करने की इजाजत दे दी जाएगी. इसके बाद 180 दिन के अंदर आधार बन जाएगा.

यदि सूचना संदिग्ध होगी तो नोडल अधिकारी उसे अस्वीकार कर देंगे। उप महानिदेशक प्रशांत कुमार सिंह ने स्पष्ट किया कि ये दिशानिर्देश 18 वर्ष से अधिक आयु के निवासियों के लिए हैं जो पहली बार अपना आधार बना रहे हैं।

10,408 मशीनों पर आधार नामांकन की सुविधा

एक बार आधार बन जाने के बाद वे सामान्य प्रक्रिया के तहत अपना आधार अपडेट भी करा सकते हैं, जिसके लिए किसी सत्यापन की आवश्यकता नहीं होगी। ऐसे सभी निवासी जिनका आधार पहले से ही बना हुआ है, वे आसानी से अपने आधार को सही और अपडेट करा सकते हैं।

ऐसे लोगों को इस नई व्यवस्था से नहीं गुजरना पड़ेगा. वर्तमान में उत्तर प्रदेश में 14,095 आधार नामांकन एवं अपडेशन मशीनों के माध्यम से आधार नामांकन एवं अपडेशन का कार्य किया जा रहा है, जिनमें से लगभग 10,408 मशीनों पर आधार नामांकन की सुविधा उपलब्ध है।

Share This Article