स्वर्ग से खूबसूरत होगा 'वंदे भारत ट्रेन' का सफर! ट्रेन 119 किमी तक सुरंगों में चलेगी

Prakash Gupta
3 Min Read

वंदे भारत ट्रेनें: देशभर में कई वंदे भारत ट्रेनें चल रही हैं. वंदे भारत कम समय में अधिक दूरी तय करने के लिए जानी जाती है। देश की 49वीं वंदे भारत ट्रेन यात्रियों के लिए खास होगी. जी हां, 49वीं वंदे भारत ट्रेन के संचालन की तैयारी चल रही है।

इसे ऐसे रूट पर चलाया जाएगा कि यात्रियों को ऐसा लगेगा मानो वे यूरोप की यात्रा पर हैं। दरअसल, इस मार्ग पर 38 सुरंगें और 927 पुल बनाए गए हैं। कुल 272 किमी मार्ग का आधे से अधिक हिस्सा सुरंगों और पुलों से कवर किया जाएगा। यात्री उत्साह से भर जायेंगे। इसीलिए इस मार्ग को स्वर्ग से सुन्दर यात्रा बताया जा रहा है।

भारतीय रेलवे ने जानकारी दी है कि उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेलवे लिंक तैयार है और इस पर देश की 49वीं वंदे भारत ट्रेन चलेगी. यह देश की पहली ऐसी वंदे भारत ट्रेन है, जिसमें 8 कोच लगाए जा रहे हैं. 272 किमी का पूरा मार्ग विद्युतीकृत होगा। रेलवे ने रामबन जिले में बनिहाल और खारी रेलवे स्टेशनों के बीच 15 किमी का ट्रायल रन भी पूरा कर लिया है।

इस रेलवे लिंक को लेकर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बड़ा अपडेट दिया है. उन्होंने कहा है कि पूरा रूट जनवरी 2024 तक तैयार हो जाएगा, जिसके तुरंत बाद वंदे भारत ट्रेन जम्मू से श्रीनगर तक चलने लगेगी. रेल मंत्री इस ट्रैक पर बने दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे ब्रिज का ट्रायल भी कर चुके हैं. इन ट्रेनों के लिए बडगाम में एक मरम्मत कारखाना स्थापित किया गया है, जबकि इंजीनियरों को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

यह खास क्यों है?

यह रूट देश की सबसे खास रेल यात्राओं में गिना जाएगा. इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि ट्रेन पूरे रूट पर करीब 38 सुरंगों को पार करेगी. इन सुरंगों की कुल लंबाई 119 किमी है, जिनमें से एक सुरंग (टी-49) 12.75 किमी लंबी है, जो देश की सबसे लंबी सुरंग मानी जाती है। इतना ही नहीं, रास्ते में 927 पुल भी आएंगे, जिनकी कुल लंबाई 13 किलोमीटर मानी जाती है.

Share This Article