राम मंदिर: राम मंदिर में सीता की मूर्ति क्यों नहीं लगाई जा सकती? जानिये क्यों!

Prakash Gupta
2 Min Read

राम मंदिर: अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण चल रहा है. 22 तारीख को रामलाल की प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव भी मनाया जाने वाला है. लोगों के मन में एक बात आई है कि रामलला के भव्य भवन में माता सीता की मूर्ति क्यों नहीं है.

दरअसल, श्रीराम के गर्भगृह में माता सीता की कोई मूर्ति नहीं होगी. इसको लेकर माता सीता की नगरी मिथिला में भी निराशा व्यक्त की जा रही है. लेकिन राम जन्मभूमि ट्रस्ट की ओर से इस संबंध में एक तर्क दिया गया है. अगर आपके मन में ये सवाल हैं, तो यहां जवाब हैं।

अयोध्या में मुख्य मंदिर के अलावा जन्मभूमि परिसर में 7 और मंदिरों का निर्माण भी चल रहा है. इनमें ब्रह्मर्षि वशिष्ठ, ब्रह्मर्षि विश्वामित्र, महर्षि वाल्मिकी, अगस्त्य मुनि, रामभक्त केवट, निषादराज और माता शबरी के मंदिर शामिल हैं। इन मंदिरों का काम भी 2024 के अंत तक पूरा हो जाएगा.

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि मंदिर परिसर के गर्भगृह में जहां रामलला विराजमान होंगे, वहां माता सीता की कोई मूर्ति नहीं होगी. यहां सिर्फ रामलला की मूर्ति स्थापित की जाएगी.

यहां रामलला की मूर्ति 5 साल के बच्चे के रूप में स्थापित की जाएगी. अर्थात यह भगवान का ऐसा रूप होगा जिसमें उनका विवाह नहीं हुआ होगा। इसलिए माता सीता की मूर्ति यहां नहीं रहेगी. क्योंकि रामलला यहां बाल रूप में विराजमान रहेंगे. जब भगवान राम ने सीता से विवाह किया तब वे 27 वर्ष के थे।

Share This Article