टॉप न्यूज़

तीन दिवसीय यूरोप यात्रा के लिए जर्मनी पहुंचे पीएम मोदी, आज जर्मन चांसलर से होगी PM Modi arrives in Germany for a three-day Europe visit, will meet with the German Chancellor today

तीन देशों की यात्रा पर निकलने से पहले पीएम मोदी ने कहा है कि मेरी यूरोप यात्रा ऐसे समय में हो रही है जब यूरोप कई चुनौतियों का सामना कर रहा है. यात्रा से पहले पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं अपने यूरोपीय भागीदारों के साथ सहयोग की भावना को मजबूत करने का इरादा रखता हूं, जो भारत की शांति और समृद्धि में महत्वपूर्ण साथी हैं.’

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस साल के पहले विदेश दौरे के लिए सोमवार को रवाना हो गए. पीएम मोदी 2 से 4 मई की अपनी इस यात्रा में तीन यूरोपीय देशों जर्मनी, डेनमार्क और फ्रांस जाएंगे. आज वह बर्लिन पहुंचेंगे और सबसे पहले जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज से मुलाकात कर बर्लिन में भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे.

इसके बाद 3 मई को इंडो-नॉर्डिक सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. फिर डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन में भी भारतीयों को संबोधित करेंगे. सबसे आखिर में पीएम मोदी पेरिस में फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से मुलाकात करेंगे. इस दौरान यूक्रेन को लेकर चर्चा हो सकती है.

पीएम मोदी के यूरोप दौरे की जानकारी देते हुए विदेश सचिव विनय क्वात्रा ने कहा कि पीएम मोदी इस दौरान यूक्रेन के संदर्भ में भारत का दृष्टिकोण भी सामने रखेंगे. हमारा शुरू से कहना रहा है कि यूक्रेन में शत्रुता खत्म होनी चाहिए और बातचीत के जरिए रास्ता निकाला जाना चाहिए.

तीन देशों की यात्रा पर निकलने से पहले पीएम मोदी ने कहा है कि मेरी यूरोप यात्रा ऐसे समय में हो रही है जब यूरोप कई चुनौतियों का सामना कर रहा है. यात्रा से पहले पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं अपने यूरोपीय भागीदारों के साथ सहयोग की भावना को मजबूत करने का इरादा रखता हूं, जो भारत की शांति और समृद्धि में महत्वपूर्ण साथी हैं.’

जर्मनी में भारतीयों को करेंगे संबोधित

पीएमओ ने प्रधानमंत्री मोदी के हवाले से कहा है, ‘2021 में भारत-जर्मनी डिप्लोमैटिक रिश्तों को 70 साल पूरे हो गए हैं. साथ ही हम साल 2000 से ही स्ट्रैटेजिक पार्टनर भी हैं. मैं चांसलर स्कोल्ज के साथ रणनीतिक, क्षेत्रीय और वैश्विक विकास पर चर्चा करूंगा. जर्मन चांसलर और मैं हमारे उद्योग सहयोग के लिए एक बिजनेस राउंडटेबल मीटिंग को भी संबोधित करेंगे.’

बता दें कि यूरोप महाद्वीप भारतीय मूल के 10 लाख से ज्यादा लोगों का घर है. इनकी एक बड़ी संख्या जर्मनी में रहती है. इसलिए पीएम मोदी यहां भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करेंगे.

पीएम मोदी के यूरोप दौरे का पूरा शेड्यूल:-

2 मई को प्रधानमंत्री मोदी सबसे पहले जर्मनी की राजधानी बर्लिन पहुंचेंगे. यहां पर वो जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज के साथ छठे भारत-जर्मनी इंटर-गवर्नमेंटल कंसल्टेशन (IGC) में शामिल होंगे.

जर्मनी में पीएम मोदी और जर्मन चांसलर भारत और जर्मनी के टॉप CEOs से मुलाकात करेंगे. इसके बाद पीएम मोदी जर्मनी में प्रवासी भारतीयों को संबोधित करेंगे.

भारत-जर्मनी इंटर गवर्नमेंटल कंसल्टेशन में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश मंत्री एस जयशंकर भी शामिल होंगे.

बर्लिन से पीएम मोदी तीन मई को डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन पहुंचेंगे. पीएम मोदी का यह पहला डेनमार्क दौरा होगा. यहां प्रधानमंत्री मोदी डेनमार्क के प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिकसेन के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे.

मोदी यहां दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे. यहां वे अन्य नॉर्डिक देशों के प्रधानमंत्री जैसे आइसलैंड के कैटरीन जैकब्सडॉटिर, नॉर्वे के जोनास गहर स्टोर, स्वीडन के मैग्डेलेना एंडरसन और फिनलैंड के सना मारिन के साथ बातचीत करेंगे.

डेनमार्क के 24 घंटों की यात्रा के दौरान पीएम मोदी भारत-डेनमार्क व्यापार गोलमेज सम्मेलन में भाग लेंगे और साथ ही डेनमार्क में भारतीय समुदाय के साथ भी करेंगे.

प्रधानमंत्री मोदी का दौरा फ्रांस की राजधानी पेरिस में खत्म होगा. यहां पीएम मोदी फ्रांस की सत्ता पर दोबारा वापसी करने वाले राष्ट्रपति इमैनुएल मैकों से मुलाकात करेंगे.

Related Articles

Back to top button