अब पटना-गया-डोभी हाईवे पर दौड़ेंगी गाड़ियां- नितिन गडकरी इस दिन करेंगे उद्घाटन.

Prakash Gupta
3 Min Read

पटना-गया-डोभी राजमार्ग: देश के केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री का सपना है कि भारत के सभी राजमार्गों को अमेरिका जैसा बनाया जाए। इनके लिए प्रयास किये जा रहे हैं. ऐसे में पटना-गया-डोभी हाईवे को लेकर एक नई उम्मीद जगी है. अब आप जल्द ही इस हाईवे पर अपनी गाड़ी चला सकेंगे।

जनवरी में पटना-गया-डोभी राष्ट्रीय राजमार्ग का उद्घाटन होना है. केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी इस कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे। केंद्रीय मंत्री 20,000 करोड़ रुपये की सड़क परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 5 जनवरी को एक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा और इसमें केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी शामिल होंगे. उनका कई सड़क परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने का कार्यक्रम है. मंत्री द्वारा गलगलिया-ठाकुरगंज-बहादुरगंज राष्ट्रीय राजमार्ग और पूर्णिया-कटिहार-नरेनपुर राष्ट्रीय राजमार्ग का भी उद्घाटन करने की संभावना है। पटना-सरिस्टाबाद-नाथुपुर फॉरवर्ड रोड विस्तार की आधारशिला भी रखे जाने की संभावना है.

पटना-गया-डोभी राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों का परिचालन जारी रहेगा

पटना-गया-डोभी राष्ट्रीय राजमार्ग अब वाहनों से गुलजार होगा। यह सड़क परियोजना पटना और डोभी के बीच यात्रा को सुविधाजनक बनाएगी। पटना से गया की दूरी कम हो जायेगी. सड़क परियोजना के पूरा होने में कई बाधाएं थीं. सड़क प्रोजेक्ट में देरी पर पटना हाईकोर्ट ने भी नाराजगी जताई है. कोर्ट ने हाल ही में एनएचएआई को जनवरी तक इस मामले में अपनी स्थिति स्पष्ट करने का निर्देश दिया था। इससे पहले गया और जहानाबाद के डीएम को सड़क निर्माण में आ रही बाधाओं को जल्द से जल्द दूर करने का निर्देश दिया गया था. याचिकाकर्ता के वकील ने कोर्ट को बताया था कि सड़क निर्माण का 85 फीसदी काम पूरा हो चुका है लेकिन लिंक रोड का निर्माण नहीं हुआ है, जिसके कारण लोगों को वहां जाने से रोका जा रहा है.

मंत्री आमस-दरभंगा राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास करेंगे

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जनवरी में आमस-दरभंगा राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास भी कर सकते हैं. आमस से दरभंगा के बीच ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे का निर्माण होने जा रहा है. इस सड़क परियोजना में भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया काफी धीमी है और लगातार समीक्षा बैठकें होती रही हैं. यह सड़क 6,927 करोड़ रुपये की लागत से बनाई जानी है और लगभग 200 किमी लंबी होगी।

Share This Article