अब ऐसे में बकाया बिजली बिल का भुगतान हो सकेगा, इसके लिए विभाग ने नई व्यवस्था लागू की है

Prakash Gupta
3 Min Read

मेज़: सरकार का दावा है कि देश के हर गांव तक बिजली पहुंच गई है. बिजली उपभोक्ता को मीटर लगाना होगा. अब सामान्य मीटरों की जगह स्मार्ट मीटर लगाए जा रहे हैं। लेकिन लोगों के सामने समस्या यह है कि पुराने मीटर पर बकाया बिजली बिल का भुगतान कैसे करें. इसके लिए वन टाइम सेटलमेंट का अधिकार सहायक विद्युत अभियंता के पास आ गया है. अब आप पुराना बिजली बिल एक बार जमा कर सकते हैं. आइए जानते हैं इसके बारे में.

स्मार्ट मीटर से 300 दिन तक प्रतिदिन पैसा काटने का प्रावधान किया गया। इससे ग्राहकों को काफी परेशानी हुई. इसे लेकर कई बार हंगामा हुआ और तिलक मैदान स्थित बिजली कार्यालय समेत अन्य कार्यालयों में तोड़फोड़ की गयी. मुजफ्फरपुर मंडल के अधीक्षण अभियंता पंकज राजेश ने कई बार पटना मुख्यालय से पत्राचार किया. तभी से यह नियम लागू है.

अब बिजली उपभोक्ता 300 दिनों के भीतर अपना बकाया बिजली बिल जमा कर सकते हैं या पूरा बिल एक बार में जमा कर सकते हैं। पर्यवेक्षक विद्युत अभियंता ने बताया कि सभी सहायक विद्युत अभियंताओं को यह अधिकार दिया गया है. यदि कोई सहायक विद्युत अभियंता एकमुश्त बिजली बिल जमा करने से इंकार करता है तो मुझसे शिकायत करें। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

बांस के खंभों से शहर को बिजली आपूर्ति

जिले में बिजली इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर कई योजनाएं शुरू की गयी हैं. क्षतिग्रस्त पोल, तार व ट्रांसफार्मर बदलने के नाम पर करोड़ों रुपये खर्च किये गये. इसके बावजूद लोगों को बांस बल्ले से निजात नहीं मिल सकी है। हमेशा जोखिम रहता है. बेला मोहल्ले में आरके आश्रम की बाउंड्री के ऊपर से केबल तार गुजारकर छोड़ दिया गया है। उस इलाके के निवासी डरे हुए हैं.

शिकायत मिलने के बाद विभाग के अधिकारी को हटाकर पोल पर शिफ्ट कर दिया गया। रामबाग मोहल्ले में कई वर्षों से बांस के खंभे पर कई घरों में बिजली की आपूर्ति की जा रही है। वार्ड 46 में संस्कृत कॉलेज के पीछे कंचन नगर के कई घरों में बांस से बांध कर सप्लाई की जा रही है. शनिवार को उसने बांस तोड़ दिया. इससे कई घरों में चार से पांच घंटे तक आपूर्ति बंद रही।

Share This Article