मुग़ल विवाह: क्या मुग़ल बादशाह अपनी बेटियों का विवाह नहीं करते थे? जानिए सच…

Prakash Gupta
2 Min Read

मुगल विवाह: मुगलों ने भारत पर कई वर्षों तक शासन किया। मुगल साम्राज्य की शुरुआत 1526 में बाबर ने की थी। इसके बाद मुगलों के कई महान शासक हुए। इनमें शाहरुख खान, आमिर खान, रणबीर कपूर, आलिया भट्ट, वरुण धवन और अन्य शामिल हैं।

मुगलों के बारे में तो आप बहुत कुछ जानते होंगे. लेकिन आज के इस आर्टिकल में हम आपको मुगल बादशाहों के बारे में कुछ तथ्य बताएंगे। ऐसा कहा जाता है कि मुगल शासक अपनी बेटियों की शादी नहीं करते थे। तो क्या यह सच है? क्या मुगल शासक अपनी बेटियों की शादी नहीं करते थे? तो आइये जानते हैं इसके बारे में.

मुग़ल शहज़ादों की शादी में क्या नहीं किया जाता था?

कई लोग कहते हैं कि मुगल राजकुमारी की शादी पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। लोगों का कहना है कि मुगल बादशाह अकबर ने यह प्रतिबंध लगाया था. इसीलिए मुगल राजकुमारी का विवाह नहीं हुआ था। लेकिन इतिहास के पन्नों में ऐसी बातों का कोई जिक्र नहीं है. मुग़ल दरबार के इतिहास में इसका कहीं भी उल्लेख नहीं मिलता।

मुगलों की परंपरा क्या थी?

मुगल बादशाह शादियाँ करते थे। मुगलों में केवल अपने करीबी रिश्तेदारों से ही विवाह करने की प्रथा थी। इसके पीछे कारण यह था कि वह अपनी सत्ता अपने घर में ही रखना चाहता था। इसलिए वह अपनी बेटियों की शादी अपने करीबी रिश्तेदारों से कर देते थे। इसके पीछे कारण यह था कि यदि उनका दामाद गद्दी पर बैठेगा तो यह उसका ही खून होगा।

Share This Article