भूमि रजिस्ट्री: भूमि पंजीकरण शुल्क कितना है? नियम जान लें तो नहीं लगेंगे ज्यादा पैसे

Prakash Gupta
3 Min Read

संपत्ति रजिस्ट्री शुल्क: अगर आप घर या जमीन खरीद रहे हैं तो उसका रजिस्ट्रेशन कराना बहुत जरूरी है। जिस व्यक्ति के नाम पर जमीन या घर रजिस्टर्ड है उसका उस पर अधिकार होता है। रजिस्ट्रेशन के लिए कई दस्तावेजों की भी जरूरत होती है.

यह दस्तावेज जमीन खरीदने और बेचने वाले दोनों को देना होगा. लेकिन रजिस्ट्री शुल्क सरकार द्वारा तय किया जाता है, जो स्थान और संपत्ति के प्रकार से तय होता है। रजिस्ट्री एक कानूनी प्रक्रिया है जिसमें किसी व्यक्ति की जमीन या संपत्ति को दूसरे व्यक्ति के नाम पर स्थानांतरित किया जाता है।

आपको बता दें कि भारत में जमीन की रजिस्ट्री कराना जरूरी है और इसके लिए भारत सरकार शुल्क भी लेती है। भारत सरकार द्वारा भूमि के मूल्य के आधार पर पंजीकरण शुल्क लगाया जाता है।

यदि आप पंजीकरण शुल्क के बारे में जानना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन पोर्टल का भी उपयोग कर सकते हैं। आज भी कई लोगों को जमीन की रजिस्ट्री के बारे में पूरी जानकारी नहीं है. परिणामस्वरूप, लोगों से अक्सर अधिक शुल्क लिया जाता है।

भुगतान कैसे तय होता है?

जब जमीन की रजिस्ट्री होती है तो उसकी रजिस्ट्रेशन फीस में सबसे अहम स्टांप ड्यूटी होती है। इसका मतलब यह है कि जमीन की रजिस्ट्री में कितना खर्च आएगा सरकार स्टांप के जरिए आपसे लेती है. अगर आप गांव में जमीन खरीद रहे हैं तो स्टांप ड्यूटी कम लगती है और अगर शहर में जमीन खरीद रहे हैं तो स्टांप ड्यूटी ज्यादा लगती है. आपको जमीन के सर्किल रेट या जमीन की सरकारी कीमत के अनुसार स्टांप ड्यूटी चार्ज का भुगतान करना होगा।

आपको बता दें कि हर राज्य की स्टांप ड्यूटी हर राज्य सरकार द्वारा तय की जाती है और यही कारण है कि यह देश के अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग होती है, जो संपत्ति के मूल्य का 3% से लेकर 10% तक होती है। स्टाम्प ड्यूटी के अलावा, आपको पंजीकरण शुल्क का भी भुगतान करना होगा जो आमतौर पर केंद्र सरकार द्वारा लगाया जाता है और राज्य भर में तय किया जाता है। संपत्ति के बाजार मूल्य का 1% पंजीकरण शुल्क लिया जाता है।

आइये गणित को उदाहरण से समझते हैं

उदाहरण के लिए, एक व्यक्ति दिल्ली में 60 लाख रुपये की जमीन खरीद रहा है, जहां स्टांप शुल्क की दर 6% है। तो उन्हें स्टाम्प ड्यूटी के रूप में 3.6 लाख रुपये और पंजीकरण शुल्क के रूप में 60,000 रुपये का भुगतान करना होगा। लेकिन अगर कोई महिला रजिस्ट्रेशन कराती है तो उसे पुरुष की तुलना में कम फीस देनी होगी।

Share This Article