ट्रेन में कितनी शराब ले जाई जा सकती है? क्या कहता है रेलवे का नियम, आज जानिए

Prakash Gupta
3 Min Read

डेस्क: भारतीय रेलवे देश में यात्रा का सबसे आरामदायक साधन माना जाता है। लोगों को ट्रेन से यात्रा करना सस्ता और सुविधाजनक लगता है। रेलवे अपने यात्रियों को यात्रा के दौरान तय सीमा के अनुसार सामान ले जाने की इजाजत देता है। लेकिन कई ऐसी चीजें हैं जिन्हें ट्रेन में ले जाना मना है। कई लोगों के मन में यह सवाल भी होता है कि क्या वे ट्रेन में शराब ले सकते हैं या नहीं। तो आइये इस सवाल का जवाब ढूंढते हैं।

रेलवे के नियमों के मुताबिक ट्रेनों में शराब ले जाना प्रतिबंधित है. इसके अलावा, रेलवे भी शराब या किसी अन्य नशीले पदार्थ के प्रभाव में यात्रा करने की अनुमति नहीं देता है। यानी आप शराब के साथ ट्रेन में सफर नहीं कर सकते.

अगर आप ऐसा करते पाए जाते हैं तो आपके खिलाफ रेलवे एक्ट 1989 की धारा 165 के तहत कार्रवाई की जा सकती है. रेलवे एक्ट के मुताबिक, सिर्फ ट्रेन में ही नहीं, बल्कि रेलवे की किसी भी संपत्ति या प्रॉपर्टी में भी शराब या कोई नशीला पदार्थ रखा जा सकता है. अनुमति नहीं। इसका स्वामित्व रेलवे अधिकारियों के पास है।

रेलवे अधिनियम की धारा 145 के अनुसार, यदि कोई यात्री नशीली दवाओं का सेवन करते हुए पकड़ा जाता है, तो उसका टिकट या पास रद्द किया जा सकता है। दोषी पाए गए व्यक्ति को छह महीने तक की कैद और जुर्माना (अधिकतम 500 रुपये) से दंडित किया जा सकता है।'

नियमों का उल्लंघन करने वालों को जेल की हवा खानी पड़ सकती है

ट्रेन से यात्रा करते समय प्रतिबंधित वस्तुएं ले जाना अपराध है। यदि कोई यात्री यात्रा के दौरान कोई प्रतिबंधित वस्तु लेकर चलता है तो उसके खिलाफ रेलवे अधिनियम की धारा 164 के तहत कार्रवाई की जा सकती है। इस धारा के तहत यात्री को 1000 रुपये का जुर्माना या तीन साल की जेल या दोनों हो सकते हैं. इसके अलावा यदि व्यक्ति द्वारा लायी गयी प्रतिबंधित सामग्री से किसी प्रकार की हानि या दुर्घटना होती है तो उसका खर्च भी दोषी व्यक्ति द्वारा वहन किया जायेगा।

Share This Article