जेसीबी माइलेज: जेसीबी कितना माइलेज देती है? 1 घंटे तक डीजल चलाने में कितना आता है खर्च, जानिए

Prakash Gupta
2 Min Read

जेसीबी: अगर कोई व्यक्ति बाइक या चार पहिया वाहन खरीदता है तो सबसे पहले उसके माइलेज और कीमत की जांच की जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि गाड़ी खरीदने के बाद उसके माइलेज के हिसाब से होने वाली कीमत का सीधा असर हमारी जेब पर पड़ता है। इसीलिए हर कोई ऐसी डिवाइस खरीदना चाहता है जो ज्यादा माइलेज दे।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि एक जेसीबी का औसत कितना होता है? इसे एक घंटे तक चलाने में कितना डीजल खर्च होता है? आपने कभी न कभी जेसीबी को खुदाई करते या काम करते हुए जरूर देखा होगा। तो आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि जेसीबी चलाने में कितना खर्च आता है और यह औसतन कितना देगी?

शक्तिशाली इंजन और मशीनरी से सुसज्जित

शक्तिशाली इंजन और मशीनरी वाली इस उत्खनन मशीन या अर्थ मूवर को जेसीबी भी कहा जाता है। लेकिन आपको बता दें कि जेसीबी एक कंपनी का नाम है जो अर्थ मूवर्स बनाने का काम करती है। लेकिन देखा जाए तो इस कंपनी की खुदाई मशीन हर जगह इस्तेमाल की जाती है इसलिए इसका नाम जेसीबी हो गया।

यह एक घंटे में बहुत सारा पैसा खर्च होता है

जेसीबी जैसी बड़ी मशीनों का माइलेज किलोमीटर के संदर्भ में नहीं मापा जाता है क्योंकि उन्हें दूरी तय करने के लिए डिज़ाइन नहीं किया गया है। इसलिए इनका माइलेज भी किलोमीटर में नहीं मापा जाता. वैसे अगर एक जेसीबी मशीन 1 घंटे चलती है तो 5 से 7 लीटर ईंधन की खपत करती है और अगर लोड ज्यादा है तो 10 लीटर डीजल की भी खपत करती है.

कितना रखरखाव?

किसी भी सामान्य वाहन की तुलना में जेसीबी का रखरखाव काफी अधिक होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मशीनरी का इस्तेमाल जिस काम के लिए किया जाता है उसमें खराबी ज्यादा आती है। इसलिए यह मशीन महीने में 10-12 हजार रुपए का खर्च मांगती है।

Share This Article