खास खबर

International Yoga Day 2022: क्यों जरूरी है योगा, क्या हैं फायदे और कौन से योग हैं आप के लिए बेस्ट

International Yoga Day 2022: प्राचीन काल से भारतीय संस्कृति में योग को बहुत महत्व दिया गया है और अब तो पूरी दुनिया इस बात को मान चुकी है कि जो चीज जिम, हैवी वर्कआउट से नहीं हो सकते वह योग से हो सकती है, इसलिए लोग योग को अपना रहे हैं. योग की इसी बढ़ती लोकप्रियता और इसके बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए हर साल 21 जून को इंटरनेशनल योगा दिवस मनाया जाता है.

योगा ना सिर्फ बड़ों के लिए बल्कि बच्चों के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है. ये उनके शारीरिक और मानसिक विकास के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है. ऐसे में आइए आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताते हैं बच्चों के लिए योग के महत्व और उन्हें कौन सा योगा करना चाहिए.

क्यों जरूरी है बच्चों के लिए योग-

बढ़ती उम्र के बच्चों के लिए योग बेहद जरूरी होता है, इसीलिए उन्हें अपने दिन की शुरुआत योग से करनी चाहिए. आजकल तो कई स्कूल भी योग को काफी महत्व देते हैं और बच्चों के दिन की शुरुआत योगा से करवाते हैं. यह बच्चों की एकाग्रता को बढ़ाता है. ऐसे में ध्यान और एकाग्रता बढ़ने से उनका पढ़ाई में मन लगता है और वो चीजों को जल्दी समझ पाते हैं. इसके साथ ही योग उनमें आत्मविश्वास को बढ़ाने में भी मदद करता है.

इतना ही नहीं योग बच्चों की बॉडी को फ्लैक्सिबल भी बनाता है, जो उनकी शारीरिक विकास और मांसपेशियों को मजबूत करता है. पढ़ाई के प्रेशर को कम करने और टेंशन फ्री रहने के लिए भी बच्चों को योग करना चाहिए. यह उनके दिमाग को संतुलित रखता है और स्ट्रेस से दूर रखता है. इसके अलावा दिन में आधे घंटे योग करने से बच्चों को रात को अच्छी नींद भी आती है.

कौन से योगासन करें बच्चे-

प्राणायाम

प्राणायाम एक श्वसन संबंधी योगासन है, जिसे करने से दिल और तंत्रिका तंत्र की एक्सरसाइज होती है. बड़ों के साथ ही बच्चों के लिए भी यह बहुत जरूरी होता है, इससे बच्चों का मन शांत रहता है और उनको सर्दी-जुखाम, खांसी इस तरह की समस्याएं भी नहीं होती है.

बालासन

बालासन या जिसे चाइल्ड पोज कहा जाता है, यह बच्चों के लिए करना बेहद फायदेमंद होता है, इसे करने से उनके दिमाग का विकास तेजी से होता है और उनमें पॉजिटिविटी आती है. बालासन करने से बच्चों में चिंता और तनाव भी कम हो सकता है.

भुजंगासन

भुजंगासन या कोबरा पोज बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद होता है. यह उनकी रीढ़ की हड्डी को मजबूती देता है साथ ही उनकी बॉडी को भी फ्लैक्सिबल बनाता है. बच्चों की बॉडी स्ट्रैचिंग के लिए इसे काफी फायदेमंद माना जाता है. यह उनकी इम्यूनिटी को भी बढ़ा सकता है.

नटराजासन

यह आसन बच्चों में ध्यान और एकाग्रता बढ़ाने का काम करता है. साथ ही उनकी बॉडी को भी फ्लैक्सिबल बनाता है. इस आसन को लॉर्ड ऑफ द डांस पोज या डांसर पोज के नाम से भी जाना जाता है.

ताड़ासन

इस आसान में बच्चों को सीधे हाथों को ऊपर करके खड़ा होना होता है इसको करने से उनकी मांसपेशियां मजबूत होती है. यह बच्चों की फिटनेस को बनाए रखने में मदद करता है. साथ ही इससे बच्चों की लंबाई भी बढ़ सकती है.

Sach News Desk

देश में तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है। जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रमाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने पाठक वर्ग तक पहुंचाती है। इसकी प्रतिबद्ध ऑनलाइन संपादकीय टीम हर रोज विशेष और विस्तृत कंटेंट देती है। हमारी यह साइट 24 घंटे अपडेट होती है, जिससे हर बड़ी घटना तत्काल पाठकों तक पहुंच सके। पाठक भी अपनी रचनाये या आस-पास घटित घटनाये अथवा अन्य प्रकाशन योग्य सामग्री ईमेल पर भेज सकते है, जिन्हें तत्काल प्रकाशित किया जायेगा !

Related Articles

Back to top button