भारतीय रेलवे: अब रेल किराये में मिलेगी 55% की छूट, जानिए रेल मंत्री ने क्या कहा..

Prakash Gupta
3 Min Read

भारतीय रेलवे: भारतीय रेलवे से यात्रा करना सबसे सस्ता माना जाता है। यात्रियों को ट्रेन किराये में 55 फीसदी की छूट मिलेगी. इस मामले की देशभर में खूब चर्चा हो रही है. दरअसल, एक मीडिया इंटरव्यू में रेल मंत्री ने कहा है कि 55 फीसदी छूट दी जा रही है. लेकिन आप शायद ही जानते होंगे कि रेलवे आपको इतनी छूट देता है. आइए देखें कि यह क्या है।

अश्विनी वैष्णव बुलेट ट्रेन परियोजना की प्रगति की समीक्षा के लिए अहमदाबाद में थे। इस बीच, पत्रकारों ने सवाल किया कि क्या सरकार यात्रियों को कोविड-19 से पहले मिलने वाली किराये में छूट फिर से शुरू करेगी। इस पर रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे की ओर से शुरू से ही यात्रियों को किराए में 55 फीसदी की छूट दी जा रही है.

100 रुपये में से 55 रुपये सरकार देती है

अहमदाबाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए रेल मंत्री ने कहा, ''यात्रियों को अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए अगर किराया 100 रुपये है तो उन्हें रेलवे को केवल 45 रुपये ही देने होंगे. यात्रियों को 55 फीसदी की छूट दी जा रही है.

इससे पहले मध्य प्रदेश के एक आरटीआई कार्यकर्ता ने रेलवे से वरिष्ठ नागरिकों से होने वाली कमाई का ब्योरा मांगा था. सरकार ने कहा था कि 2022-23 में करीब 15 करोड़ वरिष्ठ नागरिकों ने रेलवे से यात्रा की. इससे रेलवे को करीब 2,242 करोड़ रुपये की कमाई हुई.

पैसा कहां से आ रहा है?

भारतीय रेलवे अपना राजस्व केवल यात्री किराये से नहीं कमाता है। उनके पास आय के कई अन्य स्रोत हैं। इनमें माल का परिवहन, रेलवे स्टेशनों पर विज्ञापन, खाद्य निविदाएं, रेलवे कारखानों में निर्मित माल का निर्यात आदि शामिल हैं।

साथ ही आम लोगों के लिए रेल किराया किफायती रखने के लिए सरकार ट्रेनों में एसी कोच लगाती है, जिनका किराया काफी ज्यादा होता है। इस तरह रेलवे अपने किराया कलेक्शन और खर्च के बीच के अंतर को पाटने का काम करता है.

Share This Article