देश दुनिया

शिवलिंग को ‘तमाशा’ बताओगे तो ‘तांडव’ तो होगा प्रभु’, आचार्य प्रमोद कृष्णम का अशोक गहलोत पर हमला

राजस्थान में खेल मंत्री अशोक चांदना के इस्तीफे की पेशकश करने के बाद से कांग्रेस में घमासान मचा हुआ है.

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता और धर्मगुरु प्रमोद कृष्णन ने पार्टी लाइन से हटते हुए बयान दिया है। उन्होंने अपनी ही पार्टी के नेताओं की आलोचना करते हुए कहा कि शिवलिंग को तमाशा नहीं कहा जा सकता। उन्होंने कहा, चाहे सपा नेता अखिलेश यादव हों या फिर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत। शिवलिंग को तमाशा नहीं कह सकते। यह मामला आस्था का है।

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा, हमारी पार्टी के कुछ नेता खुद को ज्यादा ही लिबरल दिखाने की कोशिश करते हैं और वे शिवलिंग का मजाक बना रहे हैं। अशोक गहलोत ने कहा था, वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर भाजपा पूरे देश में तमाशा कर रही है। भाजपा का लोकतंत्र में विश्वास नहीं है। इसके नेता लोकतंत्र का नकाब पहनकर राजनीति कर रहे हैं। इन लोगों की नीतियां और सिद्धांत देश को बर्बाद करने वाले हैं। ज्ञानवापी मस्जिद में कथित शिवलिंग पाए जाने के बाद गहलोत ने यह बयान दिया था।

इसके बाद भाजपा के भी शहजाद पूनावाला ने उन्हें जवाब देते हुए कहा था कि कांग्रेस हिंदू आस्था का मजाक बना रही है। उन्होंने कहा था, क्या बाबा के लिए श्रद्धा जनेऊधारी कांग्रेस केलिए तमाशा है ? प्रमोद कृष्णम ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि हम महात्मा गांधी की विचारधारा पर चलने वाले लोग हैं और सर्वधर्म समभाव पर विश्वास करते हैं। उन्होंने कहा, भाजपा मंदिर में वोट तलाश रही है। हम मंदिरों में भगवान को ढूंढते हैं। उन्होंने कहा, राहुल गांधी भी शिवभक्त हैं। उन्होंने कहा, सनातन धर्म सभी धर्मों का आदर करना सिखाता है लेकिन अपने धर्म का अपमान करना नहीं सिखाता।

Sach News Desk

देश में तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है। जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रमाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने पाठक वर्ग तक पहुंचाती है। इसकी प्रतिबद्ध ऑनलाइन संपादकीय टीम हर रोज विशेष और विस्तृत कंटेंट देती है। हमारी यह साइट 24 घंटे अपडेट होती है, जिससे हर बड़ी घटना तत्काल पाठकों तक पहुंच सके। पाठक भी अपनी रचनाये या आस-पास घटित घटनाये अथवा अन्य प्रकाशन योग्य सामग्री ईमेल पर भेज सकते है, जिन्हें तत्काल प्रकाशित किया जायेगा !

Related Articles

Back to top button