अगर आप कोई पुराना फ्लैट, जमीन या घर खरीद रहे हैं तो आपको कैसे पता चलेगा कि संपत्ति वैध है या अवैध?

Prakash Gupta
4 Min Read

संपत्ति की खरीद: आज के समय में लोग प्रॉपर्टी खरीदने में भी निवेश करते रहते हैं और उनकी कीमत भी लगातार बढ़ती रहती है। घर या फ्लैट खरीदना बहुत मुश्किल है. कोई भी जमीन या फ्लैट खरीदते समय यह चिंता रहती है कि वह संपत्ति वैध है या नहीं।

क्या यह अवैध नहीं है? अगर ऐसा हुआ तो आने वाले समय में सरकार इसे जब्त कर सकती है. सबसे बड़ी समस्या तब आती है जब हम अधिक पुरानी जमीन खरीद लेते हैं। अगर आप भी कोई पुरानी प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं तो पहले उसका रिकॉर्ड जांच लें। लेकिन सवाल यह उठता है कि उसका रिकॉर्ड कैसे जांचा जाए?

अगर आप भी बिना रिकॉर्ड देखे कोई फ्लैट या प्रॉपर्टी खरीदते हैं तो आपके लिए परेशानी हो सकती है, क्योंकि भविष्य में वह आपसे छीनी भी जा सकती है। पहले के समय में किसी भी जमीन या संपत्ति के दस्तावेज के लिए आपको ऑफिस के चक्कर लगाने पड़ते थे, लेकिन अब इंटरनेट के जमाने में सब कुछ आसान हो गया है। अब आप 50 या 100 साल पुराने रिकॉर्ड भी आसानी से देख सकते हैं।

राजस्व विभाग ने आधिकारिक पोर्टल लॉन्च किया

पहले के समय में अगर आपको किसी भी रियल एस्टेट रिकॉर्ड को देखना होता था तो उसके लिए राजस्व विभाग के चक्कर लगाने पड़ते थे और यह बहुत मुश्किल काम भी था। लेकिन अब सभी राजस्व विभागों ने जमीन के पुराने रिकॉर्ड देखने के लिए अपने आधिकारिक पोर्टल लॉन्च कर दिए हैं।

इसके लिए आपको जमीन का नाम, खसरा नंबर, खाता नंबर, जमा नंबर पता होना जरूरी है. अगर आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं और आपको जमीन का कोई पुराना दस्तावेज तलाशना है तो आप राजस्व विभाग की आधिकारिक वेबसाइट https://upbhlekh.gov.in पर जा सकते हैं।

पुराने रियल एस्टेट के वैध दस्तावेजों की जांच कैसे करें

आपको उत्तर प्रदेश राज्य राजस्व विभाग की आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर जाना होगा और पंजीकृत दस्तावेज़ देखें के विकल्प पर क्लिक करना होगा। नए पेज पर सभी आवश्यक विवरण दर्ज करें।

सर्च बटन पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलेगा। इसमें आपको सबसे नीचे 'विवरण देखने के लिए यहां क्लिक करें' पर क्लिक करना होगा। इससे आपकी स्क्रीन पर जमीन से संबंधित सभी जरूरी रिकॉर्ड दिखने लगेंगे. यदि आप जानकारी देखना चाहते हैं तो आपको विवरण देखें पर क्लिक करना होगा।

यदि आपके पास ऑनलाइन पहुंच नहीं है तो क्या करें?

यदि वैध दस्तावेज़ ऑनलाइन निकालने का कोई तरीका नहीं है, तो आप ऑफ़लाइन माध्यम से भी ऐसा कर सकते हैं। इसके लिए आपको राजस्व विभाग के कार्यालय जाना होगा। इसके बाद संबंधित अधिकारी को जमीन का रिकॉर्ड देखने के लिए आवेदन पत्र लेना होगा और उसमें जानकारी भरनी होगी। इसके बाद आवेदन पत्र को शुल्क के साथ अधिकारी के पास जमा करना होगा। इसके बाद स्वराज विभाग के अधिकारी आपको जमीन के पुराने दस्तावेजों की कॉपी उपलब्ध करा देंगे.

Share This Article