नि:शुल्क प्रशिक्षण : सरकार मेधावी छात्रों को नि:शुल्क कोचिंग उपलब्ध कराएगी

Prakash Gupta
2 Min Read

नि:शुल्क प्रशिक्षण: आजकल छात्र किसी भी प्रतियोगिता की तैयारी के लिए कोचिंग संस्थानों में दाखिला लेते हैं। इन संस्थानों में छात्र परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। ऐसे कई छात्र हैं जो कोचिंग के माध्यम से जेईई, आईआईटी और यूपीएससी की तैयारी करते हैं।

लेकिन जो छात्र 12वीं कक्षा पास कर चुके हैं और आर्थिक रूप से कमजोर हैं, उन्हें कोचिंग में थोड़ी दिक्कत होती है। कोचिंग संस्थानों में मोटी फीस देना हर किसी के बस की बात नहीं है। ऐसे में सरकार की ओर से गरीब वर्ग के छात्रों के लिए एक योजना चलाई जा रही है जिसमें उन्हें मुफ्त कोचिंग की सुविधा दी जाती है.

छात्रों के लिए निःशुल्क कोचिंग

केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए कोचिंग सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग की वेबसाइट बताती है कि एससी और ओबीसी छात्रों के लिए मुफ्त कोचिंग योजना का प्रावधान है।

योजना का उद्देश्य अनुसूचित जाति (एससी) और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के उम्मीदवारों को अच्छी गुणवत्ता वाली कोचिंग प्रदान करना है। ताकि वे सार्वजनिक/निजी क्षेत्र में अच्छी नौकरी पाने के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल हो सकें।

इसके साथ ही शिक्षा मंत्रालय ने SATHEE नाम से एक पोर्टल लॉन्च किया है जो जेईई-नीट की तैयारी के लिए मुफ्त कोचिंग प्रदान करता था। इसका पूरा नाम असिस्टेंट टेस्ट एंड हेल्प फॉर एंट्रेंस एग्जामिनेशन है। बच्चों को एम्स और आईआईटी के प्रोफेसर मुफ्त कोचिंग देंगे।

कई देशों में कार्यक्रम

केंद्र सरकार के अलावा राज्य सरकारें ऐसे छात्रों के लिए योजनाएं चलाती हैं। दिल्ली में भी छात्रों को सिविल सेवा और मेडिकल जैसी अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए मुफ्त कोचिंग दी जाती है।

इसके अलावा उत्तर प्रदेश सरकार का समाज कल्याण विभाग भी एक योजना चला रहा है जिसके तहत गरीब बच्चों को मुफ्त कोचिंग दी जाती है। इसी तरह के कार्यक्रम राज्य के अन्य हिस्सों में भी आयोजित किये जा रहे हैं.

Share This Article