Hamar bilaspurHamar Chhattisgarhindia

सड़क जीर्णोद्धार और धूल डस्ट की रोकथाम के लिए : निगम सरकार और एसईसीएल प्रबंधन से छेरछेरा मांगेगी बांकी मोंगरा की जनता — माकपा

बांकी मोंगरा की मुख्य कोल माइंस से मैन मार्केट तक जर्जर सड़क और धूल डस्ट उड़ने से लोगों में जबरदस्त आक्रोश है। माकपा द्वारा इस नागरिक समस्या को उठाने के बाद इसके जन आंदोलन में बदलने की संभावना भी बढ़ गई है। आंदोलन के पहले चरण में कल 28 जनवरी को निगम सरकार और एसईसीएल प्रशासन के साथ ही इस क्षेत्र के सांसद और विधायक से भी सड़क जीर्णोद्धार और धूल डस्ट रोकने के लिए छेरछेरा मांगने की घोषणा की गई है। इस मांग पर प्रदर्शन की रूपरेखा कल नागरिकों के साथ आयोजित एक बैठक में बनाई गई, जिसमें माकपा नेताओं सहित उमेश अग्रवाल, अमित सिन्हा, सुधीर शर्मा, अशोक अग्रवाल, योगेश अग्रवाल, राकेश अग्रवाल, पवन शर्मा, राहुल सहित इस क्षेत्र के अन्य गणमान्य नागरिक भी उपस्थित थे।

माकपा जिला सचिव प्रशांत झा ने कहा है कि जर्जर सड़क और धूल डस्ट से लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है। लेकिन इस समस्या के प्रति एसईसीएल प्रबंधन और कोरबा नगर निगम दोनों गंभीर नहीं है, जबकि बांकी की सड़क के लिए एसईसीएल प्रबंधन के साथ नगर निगम भी जिम्मेदार हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि एसईसीएल केवल खदानों का संचालन कर मुनाफा कमाने में व्यस्त है और नगर निगम का जोर केवल टैक्स वसूली पर है। निगम के इस सबसे उपेक्षित जोन में बुनियादी मानवीय सुविधाओं की पूर्ण उपेक्षा की जा रही है, जबकि इस छेत्र से प्राप्त राजस्व का उपयोग कोरबा शहर की सड़कों के बार-बार मरम्मत करने के लिए किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि सड़क निर्माण और धूल डस्ट की रोकथाम के उपाय की मांग को लेकर कल छेरछेरा पर्व के दिन बांकी मोंगरा के आम नागरिक माकपा के नेतृत्व में एसईसीएल प्रबंधन और निगम सरकार से छेरछेरा मांगेंगे।

Live Share Market

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES