टॉप न्यूज़

परिवार का दावा-तीन लोगों ने किया अपहरण

बेगूसराय में 1970 के दशक से पकड़ौआ शादी का प्रचलन शुरू हुआ था, जो धीरे-धीरे पूरे बिहार में फेमस हो गया. अब एक ग्रामीण मवेशी डॉक्टर की पकड़ कर शादी करने का आरोप परिजनों ने लगाया है.

Bihar News: बिहार में ‘पकड़ौआ’ विवाह का दौर अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। बीच-बीच में युवकों को पकड़कर उनकी जबरन शादी कराने के मामले सामने आते रहते हैं। अब बेगूसराय जिले में भी इसी तरह की घटना सामने आई है। यहां मवेशियों के डॉक्टर को उठाकर उसकी शादी जबरन करा दी गई है। परिजनों का कहना है कि मवेशियों का इलाज करने के लिए घर से निकले डॉक्टर को रास्ते में लोगों ने अगवा कर लिया और फिर उसकी शादी करा दी। पुलिस का कहना है कि इस मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

परिवार का दावा-तीन लोगों ने किया अपहरण

पीड़ित परिवार के एक व्यक्ति ने कहा कि दोपहर 12 बजे एक बीमार पशु का इलाज करने के लिए डॉक्टर को बुलाया गया। मवेशी का इलाज करने जब डॉक्टर जा रहे थे तो रास्ते में तीन लोगों ने उनका अपहरण कर लिया। शादी की बात सुनकर परिवार वाले परेशान हो गए। फिर पुलिस में इसकी शिकायत की गई।

आरिपियों को तलाश रही पुलिस

बेगूसराय के पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार का कहना है कि डॉक्टर के पिता ने पुलिस स्टेशन में लिखित शिकायत दी है। हमने एसएचओ एवं अन्य अधिकारियों को इस मामले की जांच करने के लिए कहा है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। ‘पकड़ौआ’ विवाह की यह घटना जिले के तेघड़ा पुलिस स्टेशन के पिढौली गांव की है। डॉक्टर सत्यम कुमार के पिता सुबोध कुमार झा का कहना है कि हसनपुर गांव के विजय सिंह ने उनके बेटे को बुलाया था। सुबोध का आरोप है कि विजय ने सत्यम को अगवा किया और एक महिला से उनके बेटे की शादी करा दी। पुलिस आरोपियों की सरगर्मी से तलाश कर रही है। इस मामले में अभी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Sach News Desk

देश में तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है। जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रमाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने पाठक वर्ग तक पहुंचाती है। इसकी प्रतिबद्ध ऑनलाइन संपादकीय टीम हर रोज विशेष और विस्तृत कंटेंट देती है। हमारी यह साइट 24 घंटे अपडेट होती है, जिससे हर बड़ी घटना तत्काल पाठकों तक पहुंच सके। पाठक भी अपनी रचनाये या आस-पास घटित घटनाये अथवा अन्य प्रकाशन योग्य सामग्री ईमेल पर भेज सकते है, जिन्हें तत्काल प्रकाशित किया जायेगा !

Related Articles

Back to top button