आंखें फड़कना: क्या यह अच्छा है या बुरा? जानिए क्या कहते हैं विशेषज्ञ

Prakash Gupta
2 Min Read

शास्त्रों के अनुसार हमारे जीवन में कई ऐसी घटनाएं होती हैं जिन्हें शुभ-अशुभ से जोड़कर देखा जाता है। हमारी आंखों का फड़कना किसी शुभ या अशुभ बात का संकेत भी माना जाता है। शकुन शास्त्र के अनुसार दोनों आंखों के फड़कने का अलग-अलग मतलब होता है। आज हम आपको इस आर्टिकल में आंख झपकाने का मतलब क्या होता है इसके बारे में बताएंगे। तो आइए जानें आंखों का फड़कना हमें क्या संकेत देता है।

आँखें खोलने का क्या मतलब है?

कई बार आंख फड़कने को शुभ-अशुभ से जोड़ा जाता है? अगर आपकी दाहिनी आंख फड़क रही है तो यह एक अलग संकेत देती है। वहीं, आंख के फड़कने का एक अलग ही मतलब होता है। पुरुषों और महिलाओं के लिए लक्षण अलग-अलग होते हैं। उदाहरण के तौर पर पुरुषों के लिए दाहिनी आंख का फड़कना शुभ माना जाता है।

इसके विपरीत यदि किसी महिला की दाहिनी आंख, पलक और भौंह फड़कती है तो यह एक अच्छा संकेत माना जाता है। यह इस बात का संकेत है कि उनकी प्रगति तेजी से होने वाली है। पुरुषों की दाहिनी आंख का फड़कना भी इस बात का संकेत है कि उन्हें जल्द ही धन मिलने वाला है। महिलाओं की बात करें तो उनकी दाहिनी आंख के फड़कने का मतलब है कि उनके घर में कलह और अशांति होने वाली है।

स्त्रियों के लिए बायीं आँख खोलना अच्छा रहता है

शकुन शास्त्र के अनुसार महिलाओं की बायीं आंख का फड़कना शुभ माना जाता है। अगर किसी महिला की बायीं आंख फड़क रही है तो यह संकेत है कि उन्हें कोई अच्छी खबर मिलेगी। इसे अचानक धन लाभ का भी संकेत माना जाता है। वहीं पुरुषों की बायीं आंख इस बात का संकेत है कि वे किसी बड़े विवाद में फंस सकते हैं। आपका किसी से विवाद हो सकता है।

Share This Article