खेल / टेक्नोलॉजी

Twitter के मालिक बने Elon Musk, 44 बिलियन डॉलर में बिक गई कंपनी Elon Musk becomes owner of Twitter, company sold for $ 44 billion

आखिरकार कई हफ्तों से ट्विटर के बिकने की खबरों के बीच ये सच हो गया. स्पेसएक्स और टेस्ला के CEO एलन मस्क ने ट्विटर को 44 अरब डॉलर यानी करीब 3368 करोड़ रुपये में खरीद लिया है. एलन मस्क ने ट्वीट करके लिखा कि ‘मुझे उम्मीद है कि मेरे सबसे बुरे आलोचक भी ट्विटर पर बने रहेंगे, क्योंकि फ्री स्पीच का यही मतलब है.’

हाल में ही एलन मस्क ने ट्विटर में 9.2 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी थी और उसके बाद वो ट्विटर के सबसे बड़े शेयरधारक हो गए थे. ट्विटर में मस्क की बड़ी हिस्सेदारी खरीद के बाद से ही ये कयास लगाए जा रहे थे कि वो ट्विटर को पूरी तरह से खरीदेंगे.

अरबपति एलन मस्क ने करीब 44 अरब डॉलर में ट्विटर का अधिग्रहण करने का समझौता किया है. कंपनी ने यह जानकारी दी. टेस्ला के मुख्य कार्यकारी अधइकारी (सीईओ) मस्क ने 14 अप्रैल को ट्विटर को खरीदने की पेशकश की थी. हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया था कि वह अधिग्रहण के लिए फंड कैसे जुटाएंगे.

बता दें, मस्क ने कहा था कि वह ट्विटर को इसलिए खरीदना चाहते है, क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि यह स्वतंत्र अभिव्यक्ति के मंच के रूप में अपनी क्षमता पर खरा उतर पा रहा है. ट्विटर ने कहा कि अधिग्रहण प्रक्रिया पूरी होने के बाद यह एक निजी स्वामित्व वाली कंपनी बन जाएगी. ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘ट्विटर का एक उद्देश्य और प्रासंगिकता है, जो पूरी दुनिया को प्रभावित करती है. हमारी टीम और उसके काम पर गर्व है.’

एलन मस्क ने दिया था ये ऑफर

ट्विटर में बड़ी हिस्सेदारी खरीदने के बाद मस्क ने ट्विटर के बोर्ड को कंपनी खरीदने की इच्छा जताते हुए ऑफर दिया था. शुरुआती इंकार के बाद मस्क और ट्विटर के शेयरधारकों के बीच कई बैठकें हुई और आखिरकार बोर्ड ने मस्क के ऑफर को स्वीकार कर लिया.

इस डील के बाद मस्क ने एक बयान भी ट्वीट किया जिसमें लिखा है कि ‘मस्क के मुताबिक अभिव्यक्ति की आजादी लोकतंत्र का आधार है और ट्विटर एक डिजिटल वर्ल्ड है जहां मानवता के भविष्य के लिए महत्वपूर्ण मुद्दों पर बहस होती है. मैं ट्विटर में नई सुविधाओं को जोड़कर, विश्वास बढ़ाकर, स्पैम को खत्म करके और सभी व्यक्ति को प्रमाणित करके इसे हर तरीके से बेहतर बनाना चाहता हूं. ट्विटर में जबरदस्त क्षमता है. मैं इसे सामने लाने के लिए कंपनी और इसका उपयोग करने वालों के साथ काम करने को उत्सुक हूं.’

वहीं एलन मस्क के ट्विटर खरीदने पर व्हाइट हाउस ने चिंता जताई है. व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जेन साकी ने कहा कि ‘कोई फर्क नहीं पड़ता कि ट्विटर का मालिक कौन है या चलाता है, राष्ट्रपति लंबे समय से बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की ताकत को लेकर चिंतित हैं, वो शक्ति जिसका हमारे दैनिक जीवन पर असर होता है. राष्ट्रपति जो बाइडेन ने लंबे समय से तर्क दिया है कि तकनीकी प्लेटफार्मों को इससे होने वाले नुकसान के लिए जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए.’

ट्विटर के बिकने के बाद दो खबरें सबसे ज्यादा चर्चा में है. पहला कि क्या मौजूदा CEO पराग अग्रवाल आगे भी CEO रहेंगे या Twitter के को-फाउंडर और पूर्व CEO जैक डोर्सी की वापसी होगी. क्योंकि जैक डोर्सी और एलन मस्क कई मुद्दों पर एकसाथ खड़े दिखे हैं और दूसरा कि क्या एलन मस्क पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का भी अकाउंट फिर से ऐक्टिवेट कर सकते हैं, जिसपर फिलहाल बैन है. जानकारों का कहना है कि ट्रंप के ट्विटर अकाउंट को फिर से एक्टिव किया जा सकता है.

Related Articles

Back to top button