क्या आप जानते हैं टोल के 10 सेकेंड के नियम, फिर नहीं देना होगा टोल टैक्स…

Prakash Gupta
3 Min Read

टोल टैक्स: जब भी हम वाहन से लंबी दूरी तय करते हैं तो बीच में कई टोल प्लाजा पड़ते हैं और इन पर हमें टोल टैक्स भी देना पड़ता है। लेकिन कितना टोल देना होगा यह वाहन के प्रकार और तय की गई दूरी पर निर्भर करता है।

पहले टोल प्लाजा पर गाड़ियों की लंबी कतार हुआ करती थी, लेकिन जब से सरकार ने फास्टैग शुरू किया है तब से यह भीड़ कम हो गई है. अब इसकी मदद से आप टोल पर ज्यादा समय खर्च किए बिना इसे आसानी से पार कर सकते हैं। साथ ही आपको कैश के मुकाबले टैक्स भी कम देना होगा. लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह पूरी तरह से कर-मुक्त भी है? आइए हम आपको बताते हैं कैसे?

10 सेकंड से अधिक का प्रतीक्षा समय

आपको बता दें कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने मई 2021 में एक नियम बनाया था जिसका उद्देश्य टोल प्लाजा पर 10 सेकंड से कम समय के लिए वाहनों को रोकना था। इसके अलावा अगर किसी वाहन को 10 सेकेंड से ज्यादा समय लगता है तो वाहन मालिक बिना टोल टैक्स दिए निकल सकता है. नियमों के मुताबिक, टोल टैक्स पर भीड़ ज्यादा होने पर भी वेटिंग लिस्ट में 10 सेकेंड से ज्यादा का समय नहीं लगना चाहिए.

100 मीटर से भी ज्यादा लंबी कतार

एनएचएआई के नियमों के मुताबिक टोल प्लाजा पर वाहनों की कतार 100 मीटर से ज्यादा लंबी नहीं होनी चाहिए. अगर टोल प्लाजा पर गाड़ियों की भारी भीड़ है और आप 100 मीटर के दायरे के बाहर गाड़ी खड़ी करके इंतजार कर रहे हैं तो आप बिना टोल टैक्स दिए भी जा सकते हैं.

इसके अलावा टोल प्लाजा पर 100 मीटर का दायरा दिखाने के लिए पीली पट्टी का होना भी जरूरी है. अगर ऐसा होता है और आपको परेशानी होती है या टैक्स देना पड़ता है तो आप एनएचएआई के हेल्पलाइन नंबर (1033) पर बात कर सकते हैं।

टोल टैक्स वाहन की दूरी, आकार, आकार के आधार पर निर्धारित होता है

अगर आप टोल प्लाजा पर कैश की बजाय फास्टैग से टोल का भुगतान करेंगे तो आपको सस्ता पड़ेगा। लेकिन अब सरकार द्वारा FASTag को अनिवार्य कर दिया गया है जिसका उद्देश्य प्रतीक्षा समय को कम करना और ईंधन की बर्बादी को रोकना है।

इसके अलावा अगर आप जानना चाहते हैं कि टोल प्लाजा कैसे चार्ज करता है तो यह सड़क की दूरी, बनावट, वाहनों के आकार आदि पर निर्भर करता है। वैसे, एक टोल प्लाजा से दूसरे टोल प्लाजा की दूरी 60 किलोमीटर है।

Share This Article