चाणक्य नीति: पत्नी की ये अवगुण बर्बाद कर देता है वैवाहिक जीवन, आप भी जानें

Prakash Gupta
2 Min Read

चाणक्य नीति: आचार्य चाणक्य एक महान विद्वान माने जाते हैं। चाणक्य ने सिर्फ राजनीति के बारे में ही नहीं बल्कि हमारे सामाजिक जीवन के बारे में भी कई बातें बताई हैं। जो आज के समय में भी उतना ही प्रासंगिक है. चाणक्य ने अपनी नीति में स्त्री-पुरुष के रिश्ते को लेकर भी कई बातें कही हैं. चाणक्य के अनुसार यदि पत्नी में अवगुण हों तो पति का जीवन ख़राब हो जाता है।

पत्तों के खराब होने से न केवल पति बल्कि उसके परिवार पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। उनका वैवाहिक जीवन बर्बाद हो जाता है साथ ही परिवार में अशांति रहती है। तो आइए इस लेख के माध्यम से जानें कि पत्नी के ये अवगुण क्या हैं।

अभद्र भाषा का प्रयोग करना

चाणक्य कहते हैं कि जो पत्नी कड़वी भाषा का प्रयोग करती हैं, उनका वैवाहिक जीवन नष्ट हो जाता है। मधुरभाषी और संस्कारी महिलाएं किसी भी घर को स्वर्ग बना देती हैं। इसके विपरीत यदि किसी स्त्री को कठोर वचन बोलने की आदत हो तो ऐसी स्त्रियों के घर में रहने से विनाश होता है। एक पति को हमेशा अपनी पत्नी की चिंता सताती रहती है. जो महिलाएं कड़वे वचन बोलती हैं वह न केवल पति के लिए बल्कि परिवार के लिए भी सही नहीं होती हैं। ऐसी पत्नी परिवार की छवि खराब करती है।

क्रोधित पत्नी

गुस्सा किसी भी स्थिति को बदतर बना सकता है। क्रोध करने वाले व्यक्ति के रिश्ते हमेशा खराब रहते हैं। क्योंकि गुस्से में वह सामने वाले के बारे में नहीं सोचता। क्रोध के समय वह ऐसी बातें कह जाता है जिससे सामने वाले के दिल को ठेस पहुंचती है।

ऐसे में अगर किसी की पत्नी नाराज हो जाए तो उसका जीवन बर्बाद हो जाता है। क्रोधित पत्नी अपने पति और उसके परिवार के लिए परेशानी का सबब बन जाती है। क्रोधित पत्नी अपने पति का जीवन नर्क बना देती है।

Share This Article