छत्तीसगढ़ की खबरे

CG NEWS : चाट-गुपचुप खाने से 25 लोग फूड प्वाइजनिंग के शिकार, एक की मौत, 24 लोगों का ईलाज जारी

बिलासपुर। बिल्हा थाना क्षेत्र के ग्राम देव किरारी में गुपचुप और चाट खाने से महिलाओं और बच्चियां सहित 25 लोग फूड प्वाइजनिंग का शिकार हो गए। एक बच्ची की इलाज के दौरान CIMS में मौत हो गई है। बच्ची की बड़ी बहन सहित 4 बच्चियों की हालत गंभीर है। बड़ी बहन का भी CIMS में उपचार चल रहा है। बाकी दोनों बच्चियों को प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं अन्य बीमार लोगों का उपचार बिल्हा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जारी है।

जानकारी के अनुसार, बिल्हा थाना क्षेत्र के ग्राम देव किरारी में रविवार शाम गांव की महिलाएं और बच्चियां ठेले पर गुपचुप और चाट खाने के लिए गई थीं। इसके बाद रात में एक-एक कर बड़ी संख्या में बच्चियों व महिलाओं की तबीयत बिगड़ने लगी। उन्हें उल्टी-दस्त होने लगी। रात में घरेलू उपचार कराने के बाद कुछ लोग ठीक हो गए, लेकिन सोमवार सुबह पता चला कि 25 महिलाएं व बच्चियां बीमार हो गई हैं। उन्हें एंबुलेंस से बिल्हा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया।

CHC बिल्हा में 5 बच्चियों की हालत गंभीर देख उन्हें बिलासपुर रेफर कर दिया गया। परिजन सभी को लेकर CIMS पहुंचे, यहां उपचार के दौरान 9 साल की बच्ची मीनाक्षी कोशले पिता चंद्रप्रकाश कोशले की मौत हो गई। वहीं उसकी बड़ी बहन साक्षी कोशले (11) की हालत गंभीर है। बच्ची की मौत की खबर मिलते ही परिजनों ने CIMS में हंगामा मचाना शुरू कर दिया। अस्पताल प्रबंधन ने परिजनों को समझाइश देकर शांत कराया।

बीमार ग्रामीणों में रीना (23 साल), दीक्षा (17 साल), मनोरमा (20 साल), दिप्ती (12 साल), दिलेश्वरी (28 साल), अभिलाषा( 10 साल), शुभांगी (10 साल), कैलाश (8 साल), हेमलता (37 साल), हेमा बंजारे (44 साल), कुंती बंजारे (30 साल), लक्ष्मीकांत (10 साल), चंद्रकांत (16 साल), गगन (12 साल), रोशनी (8 साल), दिलेश्वरी (20 साल ), अर्चना (38 साल), संजुलता बंजारे (30 साल), हंशिका बंजारे (18 साल) सहित अन्य शामिल हैं।

Sach News Desk

देश में तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है। जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रमाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने पाठक वर्ग तक पहुंचाती है। इसकी प्रतिबद्ध ऑनलाइन संपादकीय टीम हर रोज विशेष और विस्तृत कंटेंट देती है। हमारी यह साइट 24 घंटे अपडेट होती है, जिससे हर बड़ी घटना तत्काल पाठकों तक पहुंच सके। पाठक भी अपनी रचनाये या आस-पास घटित घटनाये अथवा अन्य प्रकाशन योग्य सामग्री ईमेल पर भेज सकते है, जिन्हें तत्काल प्रकाशित किया जायेगा !

Related Articles

Back to top button