देश दुनिया

बड़ी उपलब्धि : भारत की बेटी कैप्टन अभिलाषा बराक बनीं आर्मी में पहली महिला लड़ाकू पायलट

नई दिल्ली। भारत की ओर से महिलाओं को रक्षा सेवाओं में अधिकारियों के रूप में शामिल करने के फैसले के तीन साल बाद कैप्टन अभिलाषा बराक बुधवार को सेना की पहली महिला लड़ाकू पायलट बन गईं। उनके सेना की एविएशन कोर से जुड़ने के साथ ही सेना के लिए यह दिन एतिहासिक रहा।

आर्मी एविएशन कॉर्प्स में शामिल होने से पहले अभिलाषा नासिक में कॉम्बैट आर्मी एविएशन ट्रेनिंग स्कूल में कोर्स को पूरा करने में लगी हुईं थीं। एक साल का ट्रेनिंग कोर्स पूरा होने के बाद उन्हें महिला लड़ाकू पायलट के रूप में सेना में शामिल कर लिया गया।

बराक हरियाणा की रहने वालीं हैं और रिटायर्ड कर्नल की बेटी हैं। बराक को सितंबर 2018 में आर्मी एयर डिफेंस कोर में कमीशन किया गया था। सेना ने कहा कि नासिक स्थित ट्रेनिंग स्कूल में एक विदाई समारोह के दौरान सेना के विमानन महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल अजय कुमार सूरी की ओर से उन्हें 36 पायलटों के साथ प्रतीक चिन्ह ‘विंग्स’ से सम्मानित किया गया। बराक को 2072 आर्मी एविएशन स्क्वाड्रन सेकेंड फ्लाइट को सौंपा गया है, जो कि ध्रुव एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर (ALH) संचालित करता है।

Sach News Desk

देश में तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है। जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रमाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने पाठक वर्ग तक पहुंचाती है। इसकी प्रतिबद्ध ऑनलाइन संपादकीय टीम हर रोज विशेष और विस्तृत कंटेंट देती है। हमारी यह साइट 24 घंटे अपडेट होती है, जिससे हर बड़ी घटना तत्काल पाठकों तक पहुंच सके। पाठक भी अपनी रचनाये या आस-पास घटित घटनाये अथवा अन्य प्रकाशन योग्य सामग्री ईमेल पर भेज सकते है, जिन्हें तत्काल प्रकाशित किया जायेगा !

Related Articles

Back to top button