कैसे थमेगा कोरोना, खाली ट्रेनों में आ रहे लोग

0
1
कानपुर
(Coronavirus) का प्रसार रोकने की कोशिशों के बीच नई मुश्किलें पैदा कर रहा है। जानकारों के अनुसार, रेलवे ने कानपुर और झांसी में रैकों से ऐसे कई आम लोगों को उतारा है, जो चोरी-छिपे उत्तर प्रदेश आ रहे थे। उत्तर मध्य रेलवे के सीपीआरओ के अनुसार, रैकों में आम लोगों की मौजूदगी मिली है। थर्मल स्कैनिंग के बाद इन्हें स्थानीय प्रशासन को सौंपा जा रहा है। रैकों में रेलवे का फंसा हुआ स्टाफ भी लौट रहा है।

दक्षिणी राज्यों से यात्री ट्रेनों के खाली रैक में रेलवे और ठेकेदारों के कर्मचारी लौट रहे हैं। दो दिन पहले फतेहपुर में भारी तादाद में ऐसे लोग उतरे थे। गुरुवार को झांसी और कानपुर रेलवे स्टेशन पर काफी तादाद में ऐसे लोग उतरे। जीआरपी और आरपीएफ की पूछताछ में काफी लोग रेलवे की विभिन्न सेवाओं से जुड़े थे तो उनके साथ आम नागरिक भी थे।

कानपुर में का पालन करने के साथ सभी का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इसके बाद इन्हें स्थानीय प्रशासन को सौंपा गया। कानपुर में ऐसे 84 लोग उतरे थे। रात करीब 10 बजे एक और ट्रेन के कानपुर पहुंचने की सूचना थी। ऐसे में जिला प्रशासन के अधिकारी उलझन में हैं। उत्तर मध्य रेलवे के सीपीआरओ के अनुसार, दक्षिणी राज्यों को जाने वाली ज्यादातर ट्रेनें गोरखपुर और लखनऊ से चलती हैं। अचानक से ट्रेन संचालन रुकने पर यात्री सेवाओं से जुड़े कई कर्मचारी फंस गए। वे ही लौट रहे थे। यह बात सही है कि उनमें आम आदमी भी शामिल हैं।

(कोरोना वायरस से लड़ने के लिए अपने घर में रहें और सुरक्षित रहें। लॉकडाउन और कर्फ्यू का पालन करें, घबराने की जरूरत नहीं है। सभी जरूरी चीजें पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं)