वर्क फ्रॉम होम पर पति की शायरी

0
1
कभी रोटी के टुकड़े में तो कभी सब्जी के प्याले में…
.
.
.
मेरी बेगम, तेरी जुल्फों का दीदार होता है,
हर इक निवाले में।
विराट, जोधपुर