Anurag Tiwari Cornell: मिसाल बना किसान का बेटा, अमेरिकी यूनिवर्सिटी से पढ़ने का ऑफर – up farmer’s son anurag tiwari cbse topper got 100% scholarship from cornell university

Anurag Tiwari Cornell: मिसाल बना किसान का बेटा, अमेरिकी यूनिवर्सिटी से पढ़ने का ऑफर – up farmer’s son anurag tiwari cbse topper got 100% scholarship from cornell university

अमेरिका के आईवी लीग में आठ यूनिवर्सिटी शामिल हैं। ये अमेरिका की टॉप और काफी प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी हैं। उन्हीं में से एक है कॉर्नेल यूनिवर्सिटी। कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से यूपी के लखीमपुर खीरी के एक किसान के बेटे अनुराग तिवारी को पढ़ाई का ऑफर मिला है। सीबीएसई की 12वीं क्लास की परीक्षा 98.2 फीसदी नंबरों के साथ पास होने वाले अनुराग ने एक मिसाल कायम की है। उनको कॉर्नेल यूनिवर्सिटी की ओर से 100 फीसदी स्कॉलरशिप ऑफर की गई है यानी उनकी पढ़ाई मुफ्त होगी।अनुराग तिवारी की कॉर्नेल यूनिवर्सिटी में 1 सितंबर से ऑनलाइन क्लास शुरू होगी। अमेरिका की ज्यादातर यूनिवर्सिटियों में कोरोनावायरस संक्रमण की वजह से ऑनलाइन क्लास चल रही है।

अनुराग ह्यूमैनिटीज की पढ़ाई कर रहे थे। उनको इकनॉमिक्स और हिस्ट्री में पूरे 100, पॉलिटिकल साइंस में 99, इंग्लिश में 97 और मैथमेटिक्स में 95 नंबर मिले हैं। अनुराग कॉर्नेल में इकनॉमिक्स और मैथमेटिक्स की पढ़ाई करेंगे। उन्होंने हमारी सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा, ‘ह्यूमैनिटीज की पढ़ाई के मेरे फैसले पर कई लोगों ने सवाल उठाया। उनका कहना था कि लड़कों के लिए यह सही नहीं है।’

अनुराग के पिता कमलापति तिवारी किसान हैं और मां संगीता तिवारी गृहिणी। अनुराग ने लखिमपुर शहर से 60 किलोमीटर दूर स्थित अपने गांव सरसन के एक प्राइमरी स्कूल से 5वीं तक पढ़ाई की थी। उन्होंने छठी क्लास में विद्याज्ञान की प्रवेश परीक्षा पास करके पहली कामयाबी हासिल की। विद्याज्ञान सीतापुर स्थित एक ग्रामीण अकैडमी है जहां यूपी के ग्रामीण क्षेत्रों के आर्थिक रूप से वंचित लेकिन प्रतिभाशाली छात्रों को चुना जाता है।

जब अनुराग 11वीं क्लास में थे तब से ही SAT की तैयारी शुरू कर दी। उनको सैट में 1600 में से 1370 मार्क्स मिले हैं। उन्होंने कॉर्नेल यूनिवर्सिटी में ‘अर्ली डिसिजन ऐप्लिकेंट’ के तौर पर आवेदन किया और पिछले साल दिसंबर में कॉर्नेल से उनको कॉल आ गई। उन्होंने अपनी इस कामयाबी का श्रेय अपने स्कूली शिक्षकों को दिया है। उन्होंने बताया कि शिक्षकों ने उनको अनुबंध का ड्राफ्ट लिखने और प्रॉजेक्ट तैयार करने में मदद की।

क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी से प्रेरित अनुराग तिवारी ने बताया, ’12वीं क्लास के बाद जब मैं अपने गांव पहुंचा तो हर कोई मुझे बड़े सम्मान से देख रहा था। जो लोग मुझे पहले नहीं जानते थे, वह हमारे घर मुझसे बात करने के लिए आने लगे। इससे मुझे खुशी होती है।’

One thought on “Anurag Tiwari Cornell: मिसाल बना किसान का बेटा, अमेरिकी यूनिवर्सिटी से पढ़ने का ऑफर – up farmer’s son anurag tiwari cbse topper got 100% scholarship from cornell university

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES