in

तत्कालीन उप यंत्री श्री सतानंद मिश्रा पर विभागीय जांच संस्थि

avinash sharma

अविनाश शर्मा ब्यूरो
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

शहडोल 14 फरवरी 2020- कमिश्नर शहडोल संभाग श्री आर.बी. प्रजापति ने तत्कालीन उप यंत्री जनपद पंचायत गोपाल शहडोल श्री सतानंद मिश्रा पर विभागीय जांच संस्थित की है। श्री मिश्रा के विरुद्ध मध्यप्रदेश सिविल सेवा (वर्गीकरण नियंत्रण एवं अपील) नियम 1966 के नियम 14 के तहत कार्यवाही किया जाना प्रस्तावित है विभागीय जांच संबंधित आरोप पत्र आरोपों का विवरण आधार पत्र एवं गवाहों की सूची प्रेषित करते हुए 15 दिवस के अंदर लिखित प्रतिवाद चाहा गया है साथ ही यह भी कहा गया है कि श्री मिश्रा अवगत करावे विभागीय जांच प्रकरण में प्रस्तुत सुनवाई चाहते हैं मौखिक जांच चाहते हैं एवं अपने बचाव में कोई तथ्य, साक्ष इत्यादि। प्रस्तुत करना चाहते हैं तो सूची प्रस्तुत करें।
कमिश्नर शहडोल संभाग श्री आर.बी. प्रजापति ने आरोप पत्र मंे कहा कि आप की ओर से लिखित प्रतिवाद नियत समयावधि में प्रस्तुत नहीं करने पर माना जाएगा कि आपको कुछ नहीं कहना है तथा प्रकरण में नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। आरोप पत्र मंे कहा है कि तत्कालीन उपयंत्री जनपद पंचायत गोहपारू श्री सतानंद मिश्रा जनपद पंचायत गोहपारू अंतर्गत ग्राम पटोरी में छपरा धार नवीन तालाब निर्माण हेतु जारी तकनीकी एवं प्रशासकीय स्वीकृति अनुसार 13 लाख 97 हजार रुपए प्रदान की गई थी। जिसकी निर्माण एजेंसी संबंधित ग्राम पंचायत की थी। उक्त कार आपके द्वारा अपने कार्यकाल में प्रारंभ कराया गया किंतु तालाब निर्माण पश्चात वर्षा ऋतु में तालाब में जलभराव अधिक होने की संभावना को दृष्टिगत रखते हुए। सरप्लस पानी निकासी हेतु वेस्ट वियर बनाने हेतु कोई तकनीकी सुझाव एवं मार्गदर्शन निर्माण एजेंसी को प्रदान नहीं किया गया। साथ ही नए उपयंत्री को प्रभार देते समय भी आपके द्वारा कार्य के संबंध में उचित मार्गदर्शन नहीं दिया गया। फल स्वरुप बरसात में पानी की अधिक आवक होने तालाब की अधूरी मेढ़ होने तथा पानी की निकासी हेतु सही व्यवस्था ना होने के कारण तलाक की मेढ़ बरसात में बह गई। इस प्रकार किया गया वह सफल हो गया। जिससे स्पष्ट है कि आपके द्वारा अपने पदीय दायित्वों का निर्वहन सही ढंग से नहीं किया गया है। यदि आपके द्वारा कार्य प्रारंभ कराते समय निर्माण एजेंसी को पानी निकासी किस संबंध में सही दिशा निर्देश दिए जाते तो संभवत उक्त स्थिति निर्मित ना होती आदि आरोप अधिरोपित किए गए हैं।

Written by admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बुंदेलखंड पैकेज घोटाले की जांच कराने के फैसले का कांग्रेस ने किया स्वागत

गुणवत्ताविहीन कराए गए निर्माण कार्य पर संबंधितों के विरुद्ध कार्यवाही के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को दिए गए निर्