in

बुंदेलखंड पैकेज घोटाले की जांच कराने के फैसले का कांग्रेस ने किया स्वागत

भोपाल, 14 फरवरी :भाषा: कांग्रेस पार्टी ने बुंदेलखंड आर्थिक पैकेज घोटाले की जांच पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा :ईओडब्ल्यू: से कराने के मध्यप्रदेश सरकार के फैसले का स्वागत किया है। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में इस घोटाले को प्रदेश में एक और ‘‘व्यापमं’’ घोटाला बताते हुए प्रदेश में अपनी सरकार बनने पर इसकी उचित जांच कराने का वादा किया था। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि प्रदेश में पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के दौरान बुंदेलखंड पैकेज के कियान्वयन में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ है। ओझा ने कहा कि केंद्र की तत्कालीन संप्रग सरकार के कार्यकाल में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के विशेष प्रयासों के कारण 2009 में बुंदेलखंड :उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश: के पिछड़े इलाकों को विकसित बनाने के लिए बुंदेलखंड पैकेज बनाया गया था। इसके तहत 7226 करोड़ रूपये की कुल राशि में से मध्यप्रदेश को 3860 करोड़ रूपये प्राप्त हुए थे, जिनसे मध्यप्रदेश के हिस्से में आने वाले बुंदेलखंड के पिछड़े जिलों का विकास किया जाना प्रस्तावित था। किन्तु प्रदेश की पूर्व भाजपा सरकार की गलत नीति, नीयत और भ्रष्टाचार के चलते, पूरा पैकेज घोटाले की भेंट चढ़ गया था। उन्होंने आरोप लगाया कि घोटाला उजागर होने के बाद शिवराज सरकार ने इसकी कोई गंभीर जांच नहीं कराई क्योंकि पूरा घोटाला पिछली सरकार की सरपरस्ती में हुआ था। कांग्रेस ने दावा किया कि योजना में भ्रष्टाचार का आलम यह था कि पांच टन वजनी पत्थरों के परिवहन के लिए भी जिन वाहनों के नंबर दिये गये थे, वे ट्रकों के न होकर, स्कूटरों व अन्य दोपहिया वाहनों के थे। ओझा ने कहा, ‘‘घोटाले में जिलों का पिछड़ापन दूर करने की बजाय भाजपा के नेताओं, ठेकेदारों, रसूखदारों और माफियाओं का पिछड़ापन दूर हो गया।’’ उन्होंने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने हाल ही में इस घोटाले की जांच ईओडब्ल्यू से कराने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही ओझा ने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र के मुताबिक भाजपा सरकार के दौरान प्रदेश में हुए व्यापमं, सिंहस्थ, ई-टेंडरिंग, पेंशन और वृझारोपण सहित सभी घोटालों की जांच हमारी सरकार की प्रतिबद्धता है। भाजपा ने कहा कि सरकार किसी भी घोटाले की जांच करने के लिए स्वतंत्र है। लेकिन कांग्रेस को केवल आरोप लगाकर राजनीति नहीं करनी चाहिए। प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा, ‘‘जांच से पहले उन्हें पता करना चाहिए कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार ने बुंदेलखंड पैकेज कैसे लागू किया था, जिसे कांग्रेस ने समर्थन दिया था और भाजपा ने मध्यप्रदेश में इसे कैसे लागू किया था। उन्हें इसकी गंभीरता से जांच करनी चाहिए। जांच कराने के लिए वह स्वतंत्र हैं लेकिन इस पर आरोप लगाकर भाग जाने जैसी राजनीति नहीं करनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस हर जगह असफल हो रही है। इसलिए वह केवल राजनीति करने के लिए ऐसा कर रहे हैं और इसके प्रति गंभीर नहीं हैं।

Written by admin

राहुल पर BJP का वार, ‘लश्कर, जैश समर्थक’

तत्कालीन उप यंत्री श्री सतानंद मिश्रा पर विभागीय जांच संस्थि