राज्य

plasma therapy for corona: कोरोना से ठीक करने के लिए इंटरनेट पर प्लाज्मा बेच रहे साइबर जालसाज – cyber criminals are selling plasma to cure covid 19

कोरोना से ठीक करने के विकसित की गई प्लाज्मा थेरपी का दुरुपयोग भी होने लगा है। कुछ लोग डार्क नेट पर प्लाज्मा बेचने की कोशिश में लगे हुए हैं। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

Edited By Nilesh Mishra | भाषा | Updated:

प्रतीकात्मक तस्वीरप्रतीकात्मक तस्वीर
हाइलाइट्स

  • कोरोना काल में डार्क नेट पर प्लाज्मा बेचने की कोशिश कर रहे साइबर जालसाज
  • प्लाज्मा थेरेपी से ठीक हो चुके हैं कोरोना वायरस से संक्रमित हुए कई मरीज
  • इन जालसाजों का दावा है कि इस प्लाज्मा से कोरोना के मरीज पूरी तरह ठीक हो जाएंगे

मुंबई

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में कुछ लोगों के कोरोना से ठीक हुए मरीजों का प्लाज्मा बेचने का मामला सामने आया है। साइबर जालसाजी करने वाले कुछ लोग कोविड-19 से ठीक हुए रोगियों के रक्त प्लाजमा को अवैध ढंग से डार्क नेट पर बेचते हुए पाए गए हैं। इनका दावा है कि कोरोना वायरस संक्रमण से यह प्लाज्मा चमत्कारिक तरीके से बचा सकता है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी।

भारत और अन्य देशों में कोविड-19 के गंभीर मामलों के उपचार के लिए प्रायोगिक आधार पर प्लाजमा थेरेपी का उपयोग किया जा रहा है। महाराष्ट्र साइबर पुलिस के विशेष पुलिस महानिरीक्षक यशस्वी यादव ने कहा कि इसी बात का फायदा उठाते हुए, जालसाज ठीक हुए मरीजों के प्लाजमा (रक्त का एक घटक) को डार्क नेट पर चमत्कारिक इलाज के तौर प्रचारित कर इसे बेचने की पेशकश कर रहे हैं, जो कि वायरस के लिए एंटीबॉडी माना जाता है।



पुलिस रख रही है नजर, जल्द कार्रवाई की तैयारी


उन्होंने कहा, ‘हमारी टीम इसकी जांच कर रही है। हमें इस तरह के किए गए प्रचार के स्क्रीन शॉट मिल गए हैं।’ उन्होंने बताया कि इसकी वेबसाइट डार्क नेट पर मौजूद हैं, जो सूचीबद्ध नहीं है। उन्होंने बताया कि इस तरह की अवैध गतिविधियों पर नजर रखने के अलावा, साइबर पुलिस सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक सामग्री के प्रसार और गलत सूचनाओं पर भी नजर रख रही है।

देश में पहली बार, महाराष्ट्र साइबर पुलिस आपत्तिजनक सामग्री ऑनलाइन प्रसारित करने वालों को दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 149 के तहत नोटिस भेज रही है। धारा 149 पुलिस को संभावित अपराध को रोकने के लिए कदम उठाने की शक्ति देता है। यादव ने कहा कि अब तक 122 ऑनलाइन उपयोगकर्ताओं को नोटिस भेजे जा चुके हैं और 60 से अधिक लोगों द्वारा पोस्ट या साझा की गई आपत्तिजनक सामग्री को हटा दिया गया है।

Web Title cyber criminals are selling plasma to cure covid 19(News in Hindi from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close