मेट्रो

china investment uttar pradesh: चीन की ‘कमर’ तोड़ने की तैयारी में सीएम योगी, आज शाम को बनाएंगे बड़ा प्लान – cm yogi adityanath is planning to attract foreign companies working in china for investment

फाइल फोटोफाइल फोटो
हाइलाइट्स

  • विदेशी कंपनियों के उत्तर प्रदेश में निवेश को लेकर सीएम योगी अपने अधिकारियों के साथ करेंगे योजना बैठक
  • इस बैठक में चीन में काम कर रही कंपनियों को लुभाने के तरीकों पर भी खास चर्चा होगी
  • सीएम योगी के अलावा दिनेश शर्मा, सिद्धार्थ नाथ सिंह समेत अवनीश अवस्थी भी होंगे शामिल

लखनऊ

देश में कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए किए गए लॉकडाउन की वजह से लाखों की संख्या में प्रवासी श्रमिक वापस उत्तर प्रदेश आ रहे हैं। इन श्रमिकों को प्रदेश में ही रोजगार उपलब्ध कराने के लिए सीएम योगी बड़े प्लान की तैयारी में जुटे हैं। शनिवार को विदेशी कंपनियों के उत्तर प्रदेश में निवेश को लेकर सीएम योगी अपने अधिकारियों के साथ योजना बैठक करने वाले हैं। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में चीन में काम कर रही कंपनियों को लुभाने के तरीकों पर भी खास चर्चा होगी।

मुख्यमंत्री कार्यालय से जुड़े सूत्रों ने एनबीटी ऑनलाइन को बताया कि सीएम योगी शनिवार शाम 5 बजे इन्वेस्ट इंडिया को लेकर मीटिंग करेंगे। इस बैठक में सीएम योगी के अलावा उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, सिद्धार्थ नाथ सिंह, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त, प्रमुख सचिव (औद्योगिक विकास) आलोक कुमार के अलावा अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी शामिल होंगे। सूत्रों के मुताबिक, सीएम योगी चाहते हैं कि चीन में कारोबार करने वाली अधिक से अधिक मल्टिनैशनल कंपनियां उत्तर प्रदेश में निवेश करें। इस निवेश के लिए सूबे में उन्हें किस तरह से बेहतर माहौल दिया जाए, इसके लिए यह बैठक होनी है।



निवेशकों को रिझाने के लिए बनी टास्क फोर्स


जानकारी के मुताबिक, योगी की नजर चीन में व्यापार कर रही जापानी, अमेरिकी और यूरोपियन कंपनियों पर है। विदेशों कंपनियों को सूबे में निवेश करने और उद्योग लगाने के लिए मैनेज करने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है। यह टास्क फोर्स विदेशी कंपनियों के लिए प्रदेश में रेड कारपेट बिछाने का काम कर रही है। सीएम योगी की यह टास्क फोर्स सीधे निवेशकों को संपर्क कर रही है और उन्हें प्रदेश में निवेश करने का प्रस्ताव देते हुए अनेक सुविधाएं उपलब्ध कराने की गारंटी दे रही है।

यूरोपियन कंपनी के उद्योग समूह से मंत्री ने की थी बात

आपको बता दें कि विदेशी कंपनियों को उत्तर प्रदेश में निवेश करने का अवसर देने के उद्देश्य से हाल ही में उत्तर प्रदेश के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने यूरोपियन कंपनियों के उद्योग समूह के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर बात भी की थी। इस समूह में 74 सदस्य शामिल थे। इसमें इटली, बेल्जियम, डेनमार्क आदि देशों के राजदूत भी शामिल रहे थे।

चीन ने जर्मन कंपनी से प्लांट शिफ्ट करने का लिया है फैसला

गौरतलब है कि दुनिया के 80 से ज्यादा देशों में फुटवियर सप्लाई करने वाली जर्मन कंपनी वॉन वेल्क्स चीन से अपना मैन्युफैक्चरिंग प्लांट शिफ्ट कर आगरा में यूनिट लगाने वाली है। आगरा में लगने वाली यूनिट से हर साल 30 लाख जोड़ी जूते बनाए जाएंगे। पहले चरण में कंपनी आगरा में 110 करोड़ रुपये का निवेश करेगी और 10 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। जर्मन कंपनी भारत में लैट्रिक इंडस्ट्रीज के साथ मिलकर काम करेगी। कंपनी यह पूरा निवेश अगले दो साल में करेगी।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close