यहाँ और भी जानकारी है। 
madhya pradesh

शहडोल जिले के उप जेल बुढ़ार में हाई सिक्यूरिटी के बाद हत्या के प्रयास सहित विभिन्न धाराओं के तहत विचाराधीन बंदी की जेल परिषर के सेकेंड फ्लोर के रेलिंग में फांसी के फंदे में झूलते हुए संदिग्ध परिस्थियों में शव मिला है । मौत की सूचना मिलने के बाद जेल के कैदी भड़क गए और हंगामा करने लगे। कैदियों ने जेलर की प्रताड़ना से तंग आकर कैदी ने गमछे से फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या का आरोप लगाया है । वही मामले की गंभीरता से देखते हुए दो प्रहरियों को निलबिंत कर दिया गया

शहडोल-     -जिले के बुढार विकासखंड अंतर्गत बुढार थाना क्षेत्र के उप जेल में विचाराधीन बंदी सज्जू उर्फ साजिद खान आज सुबह जेल परिसर में गमछे से फांसी के फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली। सज्जू बुढ़ार थाने में ipc की धारा279,337,325 सहित 307 व मोटर व्हीकल एक्ट की धारा 184 के ( हत्या के प्रयास सहित विभिन्न धाराओं ) तहत आरोप पंजीबद्ध होने के बाद बीते 9 जून को ही बुढ़ार स्थित उपजेल लाया गया था। प्रतिदिन की तरह जेल में पदस्थ कर्मचारी सुबह मुआयना करने पहुंचे तो वहां देखा कि बैरक नंबर 3 में सीढ़ी के समीप साजिद उर्फ पप्पू की लाश झूल रही थी, जिसकी जिसकी सूचना उसके द्वारा तत्काल जेल अधीक्षक को दी गई। जेल अधीक्षक ने इस पूरी घटना से जेल के वरिष्ठ अधिकारियों सहित स्थानीय थाने व जिला प्रशासन को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंचे, सभी ने जेल परिसर का मुआयना किया तथा एसएलआर की टीम आदि के साथ मौके पर जाकर फांसी के फंदे से शव का निरीक्षण  तथा पंचनामा आदि की प्रक्रिया करवाई गई। इस दौरान जब अधिकारी मौका पंचनामा बनाने आदि की प्रक्रिया के दौरान वहां पहुंच रहे थे,उसी दौरान अन्य बैरकों में बंद कैदी जेल प्रशासन मुर्दाबाद सहित जेलर पर प्रताड़ना के आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा कर दिया ।

 

– हाई सिक्युरिटी के बाद जेल परिषर में बंदी द्वारा फाँसी लगाकर आत्महत्या करने को लेकर जेल प्रशासन पर कई सवाल खड़े कर रहे है । वही जेलर द्वारा कैदियों को प्रताड़ित किये जाने का भी बंदियों ने एक स्वर में आरोप लगाते हुए बंदी सज्जू की मौत का जिम्मेवार ठहराया है ।-

वही इस पूरे मामले में सक्षम अधिकारी मामले की जांच कराने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ रहे है

Related Articles

Back to top button