यहाँ और भी जानकारी है। 
Hamar Chhattisgarhindia

एमएसएमई डेव्लपमेंट इंस्टीट्यूट द्वारा मैट्स यूनिवर्सिटी में उद्यमिता एक चिकित्सा उपकरण और खिलौनों पर एक कैरियर विकल्प के रूप में वेबिनार आयोजित किया गया

रायपुर: मैट्स स्कूल ऑफ़ फैशन डिज़ाइन एंड टेक्नोलॉजी, मैट्स यूनिवर्सिटी रायपुर में वेबिनार का आयोजन किया गया कार्यक्रम का शुभारम्भ एमएसएमई के संयुक्त निदेश डॉ वी आर सरसाथी, पि के नीमोंकार, और उमेश प्रसाद जी ने किया कार्यक्रम मे मैट्स यूनिवर्सिटी क़े कुलपति – श्री गजराज पगारियाजी, उपकुलपति प्रोफेसर के॰ पी॰ यादव, प्रति उपकुलपति श्रीमती दीपिका ढांडजी, महानिदेशक श्रीमान प्रियेश पगारियाजी, कुलसचिव गोकुलानंदा पंडाजी, फैशन डिजाइनिंग एंड टेक्नोलॉजी की विभागाध्यक्ष श्रीमती परविंदर कौरजी और दूसरे विभागाध्यक्ष और समस्त विध्यार्थी उपस्थित थे

श्री मान डॉ वी आर सरसाथी जी ने “उद्यमिता एक चिकित्सा उपकरण और खिलौनों पर एक कैरियर विकल्प के रूप में” विषय पर चर्चा किया चर्चा की शुरुवात अपना परिचय देते हुए किया और उन्होने अपने व्याख्यान मे स्वरोजगार के लिए बहोत सारे प्रेरणात्मक वाक्य के बारे मे बताया है , और स्वामी विवेकानंद जी के विवेकतामक जीवन के बारे मे बताते हुये स्वरोजगार के प्रति प्रेरित किया , ऐसे ही कुछ और बिजनेसमेन के बारे मे जैसे की जसवनतिबेन पोपट महिलाबेन गृह उद्योग, अंबानी परिवार के बारे मे बताया और कहा की अच्छा व्यवसाय और अच्छा व्यवसायिक के लिए जरूरी नहीं है की आपके पास अच्छी शिक्षा और और अच्छी डिग्री हो लेकिन आपके अच्छी स्किल , और कड़ी मेहनत और खुद मे कुछ नया करने का जुनून होना चाहिए

पि के नीमोंकार जि ने कुछ महत्वपूर्ण सेक्टर और इंडस्ट्री जैसे की प्रकृतिक संसाधन, आटोमोबाइल, टेक्सटाइल साइन्स , साइकल अँड प्रॉडक्ट एक्सेसरीज़ स्परेस प्लांट , खनिज वैन और खाद , फूड प्रोसेसिंग सिस्टम, वर्मी कोम्पोसीटिंग , डाइरी प्रॉडक्ट , पावर हाउस , नवीनीकरण , अनविनिकरण संसाधनो के जैसे संभव क्षेत्रों के बारे मे बताया जहां व्यवसाय के ढेरो अवसर उपलब्ध है एमएसएमई किस प्रकार से उद्यमीयों को कैसे सह्यता प्रदान करता है, अपने योजना को कैसे पैटेंट करवाना है का पूरा प्रक्रिया इंडस्ट्रियल पॉलिसी , नीमोंकार जी ने छत्तीसगढ़ के कुछ योजनाओ के बारे मे साझा किया

एमएसएमई के सहायक निदेशक श्री मान उमेश प्रसाद जी ने मेडिकल के क्षेत्र मे कुछ ईक्विपमेंट के बारे मे बताया डूरेबल मेडिकल ईक्विपमेंट , ट्रीटमंट ईक्विपमेंट , लाइफ सपोर्ट सिस्टम मेडिकल लैबोरेटरी ईक्विपमेंट, वर्तमान स्थिति के अनुसार मेडिकल, सरकार की आने वाले योजनाआओ , व्हील चेयर्स , मास्क , एमएसएमई स्कीम के बारे मे संक्षिप्त मे बताया

मैट्स यूनिवर्सिटी के कुलपति – श्री गजराज पगारियाजी ने कहा कि हम बच्चो को उनके सफल और उज्ज्वल भविष्य के लिए हर संभव प्रयाश कर रहे है और इस आपदा मे भी हम अपने बच्चो के लिए ऑनलाइन सिस्टम को माध्यम बनाकर उन्हे एमएसएमई के अतिथियों का अनुभव साझा करवाने का प्रयाश किए है

उपकुलपति प्रोफेसर के॰ पी॰ यादव जी ने बच्चो को अपने अंदर का डर को दूर और अपने अंदर छुपे क्षमता का उपयोग करने का सलाह दिया, और कहा की युवाओ को अपना सतप्रतिशत उपयोग करना चाहिए

प्रति उपकुलपति श्रीमती दीपिका ढांडजी – ने व्यवसाय के प्रति जागरूकता और रुचि बढ़ाने के लिए बच्चो को भारत के चुनिनन्दा व्यवसायिक का उदाहरण दिया जो विद्यार्थियों के व्यवसाय के प्रति कुछ नया उत्साह दिखा, उन्होंने उद्यमिता में प्रबंधन की आवश्यकता के बारे में भी जानकारी दी।

महानिदेशक श्रीमान प्रियेश पगारियाजी ने व्यवसाय को ही युवाओ की प्रथम सोच होनी चाहिए और अपने लिए दिन रात मेहनत , लगन ,ईमानदारी और कड़ी मेहनत के साथ काम करने को सफलता की चाबी बताया

कुलसचिव गोकुलानंदा पंडाजी ने कहा कि व्यवसाय के लिए जरूरी नहीं है की अगर किसी का खुद का व्यवसाय है तभी व्यवसाय किया जा सकता है, व्यवसाय और नौकरी मे विभिन्नता को बताया और स्वरोजगार और उद्यमिता की लिए प्रेरित किया और अपने स्किल, क्रीएटिविटि ,योजना , को निखारते रहने को कहा, भारत देश का वर्तमान मे जो आयात और निर्यात के बारे मे चर्चा करते हुये कहा की मेडिकल और खिलौना से भी बीजेनेस की शुरुवात कर सकते है और एक सफल व्यवसायिक बन सकते है ॰

फैशन डिजाइनिंग एंड टेक्नोलॉजी की विभागाध्यक्ष श्रीमती परविंदर कौरजी ने फैशन और इनटिरियर डिज़ाइनिंग के विद्यार्थियों को एमएसएमई की सहायता से अपना खुद का व्यवसाय की शुरुवात करने का आत्मविश्वाश जागृत करने और खुद को जरूरत के हिसाब से बदलने का सलाह दिया

कार्यक्रम के अंत में विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और एमएसएमई समस्त अतिथियों ने छात्रों के साथ सवाल जवाब करते हुये ऑनलाइन माध्यम का सदुपयोग करते हुए बहुमूल्य जानकारी दी है और साथ ही साथ समस्त अतिथिगणो ने विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए शुभाशीष देते हुए इस महामारी के समय हमेशा मास्क लगाने और घर पे ही रहने और सुरक्षित रहने को कहा

Related Articles

Back to top button