Metro

महाराष्ट्र में क्या हटेगा लॉकडाउन? CM उद्धव ठाकरे ने कही ये बड़ी बात

मुंबई
महाराष्ट्र में कोरोना संकट के बीच रविवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य की जनता को संबोधित किया। सीएम उद्धव ठाकरे ने जारी में जारी लॉकडाउन पर कहा कि लोग लगातार सवाल पूछ रहे हैं। कोरोना के केसेस कम हुए तो क्या लॉकडाउन हटेगा? हम बस यही कोशिश कर रहे हैं कि हमारा राज्य सुरक्षित रहे। कड़क लॉकडाउन नहीं बल्कि इस बार कड़क नियम किए गए हैं। सीएम ने कहा कि महाराष्ट्र में अभी भी कई जिले ऐसे हैं, जहां नियम हल्के किए गए और वहां केसेस बढ़ने लगे। शहर से ज्यादा गांवों में ऐसी स्थिति देखने को मिली।

रविवार देर शाम अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं आप सब से 1 महीने बाद मिल रहा हूं। पिछली बार 1 मई यानी महाराष्ट्र दिवस पर मिला था। एक महीने में क्या-क्या हुआ और आगे क्या करना है ये बताना मेरा कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि सबसे पहले तो मैं आप सबको शुभकामना देना चाहता हूं कि आप लोग सभी नियमों का पालन कर रहे हैं।

केंद्र सरकार से जल्द और मदद मिलने की उम्मीद
उद्धव ठाकरे ने कहा कि 8-10 दिनों पहले आए तूफान की बात करेंगे। कई सालों बाद ऐसा तूफान देखने को मिला है। पिछले साल भी हमारे यहां तूफान आया था। एक तो कोरोना ऊपर से तूफान। दोनों संभालना मुश्किल है पर सभी ने अपना काम जिम्मेदारी से किया। उद्धव ठाकरे ने कहा कि मेरी हाल ही में प्रधानमंत्री से बात हुई। इस तरह की घटनाओं की सहयता राशि में बदलाव होने चाहिए। NDRF को अधिक मदद मिलनी चाहिए। लोगों को नुकसान की भरपाई जल्द देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है केंद्र सरकार जरूर और जल्द मदद करेगी।

55 लाख फ्री शिव भोजन थाली बांटी
सीएम ने कहा कि कोरोना में जो हमने घोषणा की उसमें हमने अनाज, शिवभोजन थालियां और ऐसी तमाम योजनाओं के तहत लोगो की मदद की है। 55 लाख फ्री शिव भोजन थाली बांटी। फेरीवालों और घरेलू काम करने वाले लोगो की मदद की। समुद्री किनारों के घर भूकंप से निपटने लायक बनने चाहिए। हमारी योजनाओं से 850 करोड़ लाभार्थियों को लाभ मिला है।

छूट कम करने पर बढ़ रहे कोरोना केस
उद्धव ठाकरे ने कहा कि लोग लगातार सवाल पूछ रहे हैं। कोरोना के केसेस कम हुए तो क्या लॉकडाउन हटेगा? हम बस यही कोशिश कर रहे हैं कि हमारा राज्य सुरक्षित रहे। कड़क लॉकडाउन बल्कि कड़क नियम इस बार किए गए हैं। सीएम ने कहा कि महाराष्ट्र में अभी भी कई जिले ऐसे हैं, जहां नियम हल्के किए गए और वहां केसेस बढ़ने लगे। शहर से ज्यादा गांवों में ऐसी स्थिति देखने को मिली।

पिछली बार से अलग है इस बार का वायरस
सीएम ने कहा कि आंकड़ों की बात करें तो अभी तक हम नीचे नहीं आए हैं। कोरोना में महाराष्ट्र नंबर एक ही है। लेकिन एक राहत की बात है कि एक्टिव केसेस पहले से कम हैं। साथ ही ठीक होने वाली की भी संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि पिछली बार का वायरस और इस बार का वायरस अलग है। तीसरे लहर में कैसा होगा ये भी कह नहीं सकते। ऑक्सीजन, बेड सब बढ़ाए गए। जब ऐसे फोन आ रहे थे कि अस्पताल में कुछ ही घंटों का ऑक्सिजन बचा है तब बहुत मुश्किल समय था। लेकिन तब हमने पूरी तैयारी की और मरीजों के लिए ऑक्सिजन की व्यवस्था की।

Related Articles

Back to top button