Metro

UP में धर्मांतरण के लिए 7 कोड वर्ड का इस्तेमाल, 'कौम का कलंक' कौन?

लखनऊ
यूपी में बड़े पैमाने पर चल रहे धर्मांतरण रैकेट के भंडाफोड़ के बाद रोज चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। धर्मांतरण रैकेट में 7 तरह के कोड वर्ड का इस्तेमाल किया जा रहा था। इन सभी को डिकोड करके इनके मतलब निकाले गए हैं। हालांकि एक कोड ‘कौम का कलंक’ को अभी तक डिकोड नहीं किया जा सका है। यूपी के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कोड वर्ड और इनके मतलब बताए।

कोड—————-
अर्थ
रिवर्ट बैक टु इस्लाम प्रोग्राम—धर्म परिवर्तन करना
मुतक्की————–हक और सच की तलाश
रहमत—————विदेश से आना वाला फंड
सलात—————नमाज
अल्लाह के बंदे———-सोशल पर विडियो लाइव कराने वाल शख्स
मोबाइल नंबर, जन्मतिथि—-धर्म परिवर्तन का नाम

कोड
कौम का कलंक
को अभी तक डिकोड नहीं किया सका है

यूपी एटीएस ने पिछले दिनों अवैध धर्मांतरण गैंग का पर्दाफाश किया था। इस गैंग पर करीब 1000 लोगों के जबरन धर्मांतरण का आरोप है। गैंग के दो मुख्य आरोपी उमर और जहांगीर गिरफ्तार किए जा चुके हैं। ये इस्लामिक दावाह सेंटर नाम की संस्था का संचालन करते थे जो महिलाओं और मूक बधिर बच्चों का धर्मांतरण कराते थे।

Related Articles

Back to top button