Metro

देश से भाग गए थे मनसुख के कातिल, वापसी के बाद दो पकड़े गए, NIA की कस्टडी में

मुंबई
4 मार्च को हिरेन मनसुख के मर्डर में शामिल कुछ आरोपी कुछ दिन तक देश के बाहर भाग गए थे। एनआईए को अपनी जांच में यह जानकारी मिली है। आरोपियों में से दो सतीश मोथुकुरी और मनीष सोनी की एनआईए ने सोमवार को कोर्ट से नई रिमांड के दौरान यह खुलासा किया। इन दोनों को 1 जुलाई तक एनआईए की कस्टडी में भेज दिया गया है।

एनआईए के अनुसार आरोपियों की पहचान सतीश और मनीष के तौर पर हुई है। सतीश ने मनसुख का गला घोंटा, जबकि मनीष उस कार को ड्राइव कर रहा था, जिसमें मनसुख की हत्या की गई। इसके बाद इन दोनों आरोपियों ने मुंबई और कुछ वक्त के लिए देश छोड़ा। एनआईए वारदात के बाद इनकी सभी यात्राओं की जानकारी निकाल रही है।

सोमवार को इस केस में गिरफ्तार तीन आरोपियों एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा, आनंद जाधव और संतोष शेलार को भी पेश किया गया। एनआईए ने कहा कि अब हमें इन तीनों की कस्टडी की जरूरत नहीं है। इसलिए इन तीनों को न्यायिक हिरासत यानी जेल भेज दिया गया।

शर्मा के वकील की तरफ से कोर्ट को कहा गया कि जेल में शर्मा की जान को खतरा है, क्योंकि उन्होंने अपने पुलिस करियर में कई हाई-प्रोफाइल केसों का इनवेस्टिगेशन किया है। वकील ने अनुरोध किया कि शर्मा को नवी मुंबई की तलोजा जेल के बजाए ठाणे जेल में भेजा गया। कोर्ट ने जेल प्रशासन से कहा कि वह शर्मा के जान के खतरे वाले आरोपों को देखे और उस हिसाब से तय करे कि उन्हें किस जेल में शिफ्ट किया जाए।

Related Articles

Back to top button