world

अमेरिकी कॉलेज स्कैम में सैकड़ों भारतीयों को हो सकती है जेल



अमेरिका में बीते बुधवार भारतीय मूल के आठ छात्रों की फर्जी यूनिवर्सिटी में दाखिले मामले में गिरफ्तारी के बाद अब सैंकड़ों भारतीय छात्रों को गिरफ्तार किया जा सकता है. इन सैकड़ों भारतीय छात्रों को अब आपराधिक मुकदमे या फिर प्रत्यर्पण का सामना करना पड़ सकता है.

हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार अमेरिकी एजेंट द्वारा चलाई जा रही इन फेक यूनिवर्सिटीज का खुलासा बीते बुधवार को एक स्टिंग ऑपरेशन के जरिए हुआ. इन एजेंट्स के गिरोह का टार्गेट कम या अनपढ़ स्टूडेंट होते हैं. ये इन छात्रों के वीजा का दुरुपयोग कर के इनके रहने और काम करने का इंतजाम करते हैं.

जस्टिस डिपार्टमेंट के मिशिगन ब्रांच ने यह घोषणा की है कि वीजा फर्जीवाड़ा में देशभर से आठ भारतीय या भारतीय मूल के अमेरिकी लोगों को गिरफ्तार किया है. दाखिला दिलाने के आरोप में जिन लोगों की गिरफ्तारी हुई है उनकी पहचान फ्लोरिडा के बराथ काकीरेड्डी, वर्जिनिया के सुरेश कंडाला, केंचुकी के फानीदीप क्रांति, नॉर्थ कैरोलिना के प्रेम रामपीसा, कैलिफोर्निया के संतोष समा, पेनसिल्वानिया के अविनाश ठक्कलापल्ली, जॉर्जियां के अश्वनाथ नूने और टेक्सास के नवीन प्रथिपति शामिल हैं.

अमेरिका में पिछले दो दिन में अनेक छापेमारी हुई है और कई भारतीयों को गिरफ्तार भी किया गया है. ये लोग मेट्रो डेट्रॉइट इलाके के एक कथित फर्जी विश्वविद्यालय में बतौर छात्र रेजिस्टर्ड थे और देश भर में काम कर रहे थे. इन छात्रों का प्रत्यर्पण किया जा सकता है.अमेरिकी आव्रजन एवं सीमा शुल्क प्रवर्तन (आईसीई) ने ये छापे कोलंबस, ह्यूस्टन, अटलांटा, सेंट लुईस, न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी आदि शहरों में मारे हैं.

Live Share Market

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES