Hamar Chhattisgarhindia

वाणिज्य-उद्योग मंत्री लखमा ने नारायणपुर जिले के विकास कार्यों की समीक्षा की

रायपुर, 28 जून 2021 : प्रदेश के वाणिज्य, उद्योग मंत्री एवं नारायणपुर जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने आज जिला पंचायत नारायणपुर के सभाकक्ष में विभागीय कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अनेक योजनाओं का संचालन किया जा रहा है।

इनमें नरवा, गरवा, घुरूवा और बाड़ी योजना के अंतर्गत जिले में स्थापित गौठानों में गठित महिला स्व सहायता समूहों द्वारा सभी प्रकार की आर्थिक गतिविधियांे का संचालन किया जाए। इसके तहत् मुर्गीपालन, सब्जी उत्पादन, पशुपालन, वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन सहित अन्य सभी प्रकार की आयमूलक गतिविधियों का संचालन किया जाए।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत धान के स्थान पर अन्य फसल लेने के लिए राज्य शासन द्वारा बढ़ावा दिया जा रहा है। जिले के किसानों को इस योजना से अधिक से अधिक जोड़े जाए। इससे लोगों की आमदनी भी बढ़ेगी। मंत्री लखमा ने समीक्षा के दौरान कहा कि वर्तमान में पूरा देश कोविड-19 से जूझ रहा है। इसकी तीसरी लहर से निपटने हेतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसके उपचार हेतु बेहतर व्यवस्था की जाये। जिले में आईसीयू वार्ड, वेंटिलेटर, आक्सीजन सिलेण्डर, और पर्याप्त संख्या में बिस्तरों की व्यवस्था की जाये। जिले के हर नागरिक को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान की जाये।

बैठक में मंत्री लखमा ने डीएमएफ मद सहित सभी विभागों के कार्यों की प्रगति की जानकारी ली और इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश अधिकारियों को दिये। जीवनदीप समिति के कार्यों पर भी चर्चा की गयी और जीवनदीप समिति द्वारा संपादित किये जाने वाले कार्यों के बारे में पूछा। उन्होंने कहा कि जिलेवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने हेतु हर संभव प्रयास किया जाए। इस दौरान समिति द्वारा प्रस्तुत प्रस्तावों का भी अनुमोदन किया गया।

बैठक के दौरान सांसद दीपक बैज, विधायक चंदन कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष श्यामबती नेताम ने अधिकारियों को जिले के सर्वांगीण विकास हेतु क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर काम करने की समझाईश दी। जिले के निर्वाचित जनप्रतिनिधि, कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू, पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button