Hamar Chhattisgarhindia

12 लोगों को अनुकम्पा नियुक्ति के लिए दस प्रतिशत पदों के सीमा-बंधन नियम को शिथिल करने का मिला लाभ

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा संवाददाता : शिव कुमार चौरसिया
बलरामपुर : 28 मई 2021 : छत्तीसगढ़ शासन ने अनुकम्पा नियुक्ति के लिए प्रावधानित दस प्रतिशत पदों के सीमा-बंधन का नियम शिथिल किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में बीते 18 मई को हुई कैबिनेट की बैठक में अनुकम्पा नियुक्ति के लिए पदों के सीमा-बंधन में छूट देने का निर्णय लिया गया था। शासन ने सीधी भर्ती के तृतीय श्रेणी के पदों पर अनुकंपा नियुक्ति के लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिए दस प्रतिशत पदों के सीमा-बंधन में 31 मई 2022 तक के लिए छूट दी है।

बलरामपुर-रामानुजगंज के जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय द्वारा 12 अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणों को निराकृत कर आश्रित सदस्यों को नियुक्ति दी गई है। कलेक्टर श्याम धावड़े ने जिला शिक्षा अधिकारी बी.एक्का द्वारा तत्परता दिखाते हुए इन प्रकरणों के निराकरण हेतु उनकी सराहना की है। उन्होंने कहा कि अनुकम्पा नियुक्ति शासकीय सेवक के सेवाकाल के दौरान असामयिक निधन उपरांत आश्रितों का अधिकार है तथा अधिकारियों द्वारा अनावश्यक कारणों से इसे लंबित न किया जाये।

कलेक्टर धावड़े ने अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणों के निराकरण को शासकीय कर्तव्य के साथ-साथ एक नैतिक दायित्व मानते हुए कहा कि इस मामले में अधिकारी संवेदनशील होकर कार्य करें ताकि समय पर आश्रितों को उनका अधिकार मिल सके। सहायक ग्रेड-03 के पद पर अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान किये गये आश्रितों में डोमन कान्त डिंगरे,बीना पैंकरा,संदीप कुमार सिंह,रामलखन भगत, दीपक कुमार गुप्ता, आशा देवी वर्मा, सत्येन्द्र कुमार भगत,प्रवीण कुमार, सरिता शाक्य, हेमलता पैंकरा, विमला उईके व सत्यव्रत सिन्हा शामिल हैं।

Related Articles

Back to top button