world

भारत के MFN दर्जा वापस लेने पर पाकिस्तान ने कहा, हम कोई 'भावनात्मक फैसला' नहीं लेंगे



जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत द्वारा पाकिस्तान से सर्वाधिक तरजीही राष्ट्र (एमएफएन) का दर्जा वापस लेने पर पाकिस्तान ने अपनी प्रतिक्रिया दी है.पाकिस्तान के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि वह कोई भी ‘भावनात्मक फैसला’ नहीं करेगा. विचार-विमर्श के बाद ही कोई प्रतिक्रिया देगा.

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारत ने सख्त कदम उठाते हुए पाकिस्तान से व्यापार में ‘सबसे तरजीही राष्ट्र (एमएफएन)’ का दर्जा वापस ले लिया है. गुरुवार को हुए इस हमले में कम- से-कम 40 जवान शहीद हुए हैं.

पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है. पाकिस्तान प्रधानमंत्री के व्यापार सलाहकार अब्दुल रज्जाक दाऊद ने संवाददाताओं से कहा कि भारत के फैसले पर कोई भी प्रतिक्रिया विचार-विमर्श के बाद किया जाएगा.

भारत के इस फैसले का पाकिस्तान पर बहुत थोड़ा असर होगा 

उन्होंने कहा, ‘भारत ने पाकिस्तान को एमएफएन देशों की सूची से बाहर कर दिया है लेकिन हम कोई भी भावनात्मक फैसला नहीं लेंगे और सोच-विचार करने के बाद ही प्रतिक्रिया जारी करेंगे.

तरजीही राष्ट्र का दर्जा वापस लेने के बाद पाकिस्तान से भारत को निर्यात की जाने वाली 48.8 करोड़ डॉलर (करीब 3,482.3 करोड़ रुपए) की वस्तुओं पर प्रभाव पड़ेगा. पाकिस्तान ने 2017-18 में भारत को 48.8 करोड़ डॉलर का सामान निर्यात किया था.

वित्त मंत्रालय के अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा कि भारत के इस फैसले का पाकिस्तान पर बहुत थोड़ा असर होगा क्योंकि दोनों देशों के बीच का व्यापार बहुत कम है.अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान को धन के लिहाज से बहुत ज्यादा नुकसान नहीं होगा.

Live Share Market

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES