Hamar Chhattisgarhindia

जिला उपजेल में 70 विचाराधीन कैदियों को लगाया गया कोरोना टीका

बेमेतरा। जिला उपजेल में 18 प्लस से अधिक उम्र के विचाराधीन कैदियों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया गया। कलेक्टर और स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर सीएमएचओ द्वारा जेल में टीकाकरण के लिए एक दल का गठन कर विचाराधीन कैदियों के स्वास्थय परिक्षण के बाद 70 कैदियों को टीका लगाया गया। वहीं कुछ कैदियों के कोरोना पॉजिटिव से निगेटिव होने वाले कैदियों को 90 दिन बाद टीका लगाया जाएगा। जिला जेल प्रशासन ने 150 कैदियों की सूची सीएमएचओ कार्यालय को भेज दी है। इसमें पात्र कैदियों को ही टीका लगाया गया। टीका लगाने के बाद कैदियों को वेटिंग रुम में बैठाया गया था। टीका लगवाने के बाद किसी में कोई भी प्रतिकूल प्रभाव नजर नहीं आया।

सीएमएचओ डॉ. एस.के. शर्मा ने बताया, “कोरोना वैक्सीनेशन शुरु होने के बाद आम लोगों का भी गाइडलाइन के मुताबिक कोरोना का टीका लगाया जा रहा है, लेकिन जेल के कैदी अभी तक इससे वंचित थे। हालांकि कोरोना काल में डॉक्टरों की सलाह पर कैम्प लगाकर जेल प्रशासन इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए औषधि मुहैया कराता रहा है। टीकाकरण को लेकर सुरक्षा व तकनीकी पेंच के चलते अभी तक कोरोना वैक्सीनेशन नहीं हो पा रहा था। कलेक्टर के निर्देश पर जेल प्रशासन ने वैक्सीनेशन कराने की कार्रवाई शुरू कर दी है। जल्द ही सभी बंदियों को भी कोरोना का टीका लगाया जा सकेगा। हालांकि केंद्र सरकार ने कैदियों, भिखारियों और साधुओं के लिए बिना आधार व पहचान वैक्सीनेशन की छूट दी है”।

उप जेल बेमेतरा में कल जिला अस्पताल के चिकित्सक डॉ. प्रवीण प्रतीक प्रधान के नेतृत्व में टीकाकरण दल में वेरिफायर रवि डेहरे, स्टॉफ नर्स तृप्ति कौशल, संजू पाटिल व उषा साहू द्वारा कोविड-19 टीकाकरण का एक दिवसीय अस्थायी कैम्प लगाया गया I इस दौरान कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए जेल में ही कैदियों का स्वास्थ्य परिक्षण भी किया गया I इसके बाद पात्र विचाराधीन कैदियों की सहमति के बाद 70 लोगों को कोविड का टीका लगवाया गया। वहीं प्रथम डोज के बाद कैदियों को जानकारी दी गई है कि टीका लगने के बाद भी मास्क, सेनेटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान अवश्य रखना है।

Related Articles

Back to top button