Metro

हम साथ-साथ हैं का दावा या महा अघाड़ी गठबंधन पर संकट? शरद पवार के बयान से हलचल तेज

मुंबई
महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कुछ दिन पहले खुद के दम पर आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने की बात कही थी। पटोले के इस बयान पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने अपनी नाराजगी जताई। पर अब नाना पटोले को महा अघाड़ी गठबंधन में सहयोगी एनसीपी के सुप्रीमो शरद पवार का साथ मिल गया है। पवार ने इसे महज कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं का जोश बढ़ाने वाला बयान करार दिया है।

एनसीपी चीफ शरद पवार का कहना है कि हर राजनीतिक दल को अपना विस्तार करने का अधिकार है। हम भी अपने पार्टी कार्यकर्ताओं की ऊर्जा बढ़ाने के लिए ऐसे बयान देते हैं।

कांग्रेस के फैसले का करेंगे स्वागत-शरद पवार
शरद पवार ने आगे कहा कि अगर कांग्रेस (अपनी पार्टी का विस्तार करने के लिए) ऐसा कुछ कहती है (अगला विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने के लिए) तो हम इसका स्वागत करते हैं क्योंकि यह उनका अधिकार है।

सीएम ठाकरे ने जताई थी नाराजगी
मुंबई कांग्रेस के अध्‍यक्ष भाई जगताप ने भी पटोले की सुर में सुर मिलाए थे। पटोले मुख्‍यमंत्री बनने की इच्‍छा भी जता चुके हैं। उनके इन बयानों को लेकर शिवसेना चीफ और मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पिछले दिनों नाराजगी जताई थी। शिवसेना के स्‍थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में ठाकरे ने अप्रत्‍यक्ष रूप से कांग्रेस पर हमला बोला था।

खुद पृथ्‍वीराज चव्‍हाण को आगे आकर देनी पड़ी थी सफाई
नाना पटोले के बयान पर उठे विवाद को शांत करने के लिए पृथ्‍वीराज चव्‍हाण आगे आना पड़ा था। उनका कहना था कि कांग्रेस ने शिवसेना और एनसीपी के साथ मिलकर यह गठबंधन इसलिए बनाया था ताकि बीजेपी को महाराष्‍ट्र की सत्‍ता से दूर रखा जा सके। ऐसे में कांग्रेस की तरफ से समर्थन वापस लेने का कोई सवाल ही नहीं उठता है। अगर हम यह कहते हैं कि हम केवल 288 में से सिर्फ 80 सीटों (एक तिहाई) पर चुनाव लड़ेंगे तो हमारे नेता और कार्यकर्ता दूसरी सीटों पर काम करने के लिए उत्‍साहित नहीं रहेंगे।

देखिए क्या बोले थे नाना पटोले-

Related Articles

Back to top button