Metro

सिसोदिया का इनकार, पर दिल्ली सरकार को 3 दिन पहले मिल गई थी ऑक्सिजन रिपोर्ट

नई दिल्ली
दिल्ली सरकार ने भले ही ऑक्सिजन ऑडिट रिपोर्ट आने से इनकार कर दिया हो, लेकिन हकीकत कुछ और नजर आ रही है। सबूत बताते हैं कि दिल्ली सरकार को यह रिपोर्ट दे दी गई थी। हमारे सहयोगी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया (ToI) के सीनियर रिपोर्टर धनंजय महापात्र ने यह जानकारी दी। उन्होंने एक ई-मेल का स्क्रीनशॉट ट्वीट करते हुए लिखा, ‘दिल्ली सरकार को ऑक्सिजन ऑडिट रिपोर्ट तीन दिन पहले ही दी जा चुकी है।’ दरअसल, दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि ऐसी कोई रिपोर्ट आई ही नहीं जिसका हवाला देकर उनकी सरकार को घेरा जा रहा है।

ToI रिपोर्टर ने दिए सबूत
हालांकि, हमारे रिपोर्टर धनंजय महापात्र ने जो सबूत पेश किए हैं, उससे स्पष्ट पता चलता है कि सुप्रीम कोर्ट की तरफ से गठित ऑक्सिजन ऑडिट टीम ने न केवल अपनी रिपोर्ट दे दी है बल्कि यह रिपोर्ट दिल्ली सरकार के पास भी तीन दिन पहले पहुंच चुकी है। धनंजय ने एक और ट्वीट में सुप्रीम कोर्ट को सौंपा गया हलफनामा साझा किया है। उन्होंने लिखा, ’22 जून को दी गई ऐफिडेविट में भी कहा गया है कि रिपोर्ट संलग्न है।’

सिसोदिया की चुनौती
हालांकि, सिसोदिया ने चुनौती दी है कि जिस रिपोर्ट के हवाले से दिल्ली सरकार पर हमला बोला जा रहा है, वो आई ही नहीं है। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘वो रिपोर्ट कहां हैं, क्या ऑक्सिजन ऑडिट कमिटी की रिपोर्ट है, जिस पर साइन हो। वह रिपोर्ट लाइए। मैं चुनौती देता हूं कि वह रिपोर्ट लेकर आएं। झूठ और मक्कारी की इंतेहा होती है। ये मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। इस तरह का षडयंत्र ठीक नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘सुबह से ऑक्सिजन की कमी को लेकर बीजेपी एक तथाकथित रिपोर्ट के हवाले से अरविंद केजरीवाल को गाली दे रही है। केंद्रीय मंत्री, देश के बड़े नेता, प्रवक्ता आकर मीडिया, ट्विटर और सोशल मीडिया पर गाली दे रहे हैं। तथाकथित रिपोर्ट का सच यह है कि ऐसी कोई रिपोर्ट है ही नहीं।’

बीजेपी हमलावर
ध्यान रहे कि ऑक्सिजन ऑडिट कमिटी की रिपोर्ट में दिल्ली सरकार की फजीहत को लेकर खबर आते ही बीजेपी हमलावर हो गई। पार्टी प्रवक्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसे आपराधिक कृत्य करार दिया तो रेल मंत्री पीयूष गोयल समेत कई अन्य बीजेपी नेताओं ने ट्वीट्स के जरिए दिल्ली सरकार को निशाने पर लिया। उधर, ट्विटर पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार किए जाने की मांग भी उठ गई। रिपोर्ट के हवाले से पहले ‘Delhi Govt’ और ‘Kejriwal’ ट्रेंड करने लगा और थोड़ी देर बाद #ArrestKejriwal टॉप ट्रेंड्स में शामिल हो गया।

Related Articles

Back to top button