Hamar Chhattisgarhindia

बिग ब्रेकिंग : छत्तीसगढ़ के इस नगर निगम में 10 करोड़ की हेराफेरी, मंत्री के निर्देश पर आयुक्त ने लेखाधिकारी को थमाया नोटिस

दुर्ग। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले से नगर निगम में 10 करोड़ की हेराफेरी का मामला प्रकाश में आया है दरअसल नगर निगम दुर्ग में 10 करोड़ रुपए की हेराफेरी की गई है. निगम अधिकारियों को करोड़ों रुपए का हिसाब नहीं मिल रहा है. वित्तीय वर्ष 2019-20 में राजस्व आय करीब 27 करोड़ दर्शाया गया, लेकिन इस आय से 10 करोड़ अधिक खर्च बताया गया. यानी व्यय 37 करोड़ का हुआ है. इसे लेकर नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने निगम प्रशासन को स्थिति स्पष्ट करने के निर्देश दिए. जिसके बाद निगम आयुक्त हरेश मंडावी ने प्रभारी लेखाधिकारी राजकमल बोरकर को नोटिस जारी किया है. उनसे तीन दिनों के भीतर स्थिति स्पष्ट करने कहा है.

इसकी समीक्षा नगरीय निकाय मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने पिछले दिनों की थी

दरअसल पिछले साल नगर निगम की आय बेहद कमजोर थी. इस वजह से कर्मचारियों को वेतन, जीपीएफ और ब्लीचिंग पाउडर सहित अन्य जरुरी कार्यों पर अन्य मद से भुगतान किया गया, जो 37 करोड़ पहुंच गया. इसकी समीक्षा नगरीय निकाय मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने पिछले दिनों की थी. जिसमें यह तथ्य उभरे. मंत्री ने मामले में कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे. इस मामले में निगम आयुक्त हरेश मंडावी ने बताया कि आय से 10 करोड़ अधिक व्यय के प्रभारी लेखाधिकारी को नोटिस जारी किया गया है. उनसे तीन दिन के भीतर स्पष्टीकरण मांगा गया है. उन्होंने बताया कि मद परिवर्तन से यह स्थिति निर्मित होने की संभावना है.

कोरोना काल में नगर निगम दुर्ग की आर्थिक स्थिति बेहद दयनीय है. कर्मचारियों को वेतन देने निगम असहाय नजर आ रहा है. मुश्किल से तृतीय और चतुर्थ वर्ग के कर्मचारियों को मई महीने का वेतन भुगतान किया गया है. नियमित 323 अधिकारी-कर्मचारी वेतन की आस में बैठे हुए हैं.

 

Related Articles

Back to top button