यहाँ और भी जानकारी है। 
Metro

Reality Check: दिल्ली में हर जगह नहीं लग पा रहा बिना रजिस्ट्रेशन के टीका

वैक्सीन की नई पॉलिसी 21 जून से लागू हो गई है। इसके तहत सभी के लिए मुफ्त वैक्सीन अब उपलब्ध हैं। साथ ही लोगों को अब बिना रजिस्ट्रेशन के लिए भी ऑन साइट रजिस्ट्रेशन के विकल्प दिए गए हैं। पॉलिसी को लागू हुए 3 दिन हो चुके हैं। राजधानी के विभिन्न वैक्सीन सेंटरों पर हाल जानिए पूनम गौड़, शमसे आलम और अनूप पाण्डेय से:

आधी वैक्सीन ऑन साइट के लिए
राजधानी में वैक्सीन के लिए यूं तो ऑन साइट रजिस्ट्रेशन की सुविधा 21 जून से ही शुरू हो गई थी, लेकिन यह ट्रायल के तहत चुनिंदा सेंटरों पर लागू हुई। 23 जून को राजधानी में इस सुविधा के लिए सेंटर बढ़ा दिए गए। इन सेंटरों पर कुछ डोज के 50 प्रतिशत ऑनलाइन और 50 प्रतिशत ऑफलाइन मोड पर रखे गए हैं। लोग वैक्सीन सेंटर तक जाते हैं, लेकिन उन्हें पता चलता है कि वहां तो अभी यह सुविधा शुरू ही नहीं हुई है।

राज नगर-2, सर्वोदय कन्या स्कूल
यहां ऑनलाइन के साथ ऑन साइट रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी शुरू हुई। सुबह 9 बजे से पहले ही यहां आसपास के इलाकों से लोग आकर जमा हो गए थे। 9 बजे इन्हें टोकन दिए गए। सेंटर पर 150 वैक्सीन डोज दी जा रही थी, इसलिए ऑन साइट रजिस्ट्रेशन के लिए 75 टोकन बांटे गए। यह महज 20 मिनट में खत्म हो गए। कई लोगों को टोकन खत्म होने की वजह से मायूस जाना पड़ा। सुबह के समय व्यवस्था बनी कि पांच ऑनलाइन स्लॉट के बाद पांच वॉक इन वालों को वैक्सीन दी जाएगी। लेकिन व्यवस्था के शुरू होते ही ऑनलाइन स्लॉट बुक करवाकर आने वालों ने झगड़ा शुरू कर दिया। उनका कहना था कि जब वह टाइम बुक करवाकर आए हैं तो उन्हें उनके समय पर वैक्सीन क्यों नहीं दी जा रही है। सुबह 9 बजे से सेंटर में आए कई टोकल वाले लोगों को 12.30 बजे के बाद भी वैक्सीन नहीं लग पाई थी।

सुल्तानपुरी, सर्वोदय बाल विद्यालय
यहां वैक्सीन लगवाने आए लोगों की 2 लाइन लगीं हुई दिखीं। एक लाइन में वॉक इन वाले लोग लगे मिले, तो वहीं दूसरी लाइन में स्लॉट बुकिंग के साथ पहुंचे लोग थे। सुबह 9 बजे से ही लोगों का आना शुरू हो गया था। वॉक इन में पहले आए 100 युवाओं को ही वैक्सीन लगाई गई। यहां कोई टोकन सिस्टम नहीं दिखा। जैसे-जैसे लोग आते गए, यहां मौजूद स्टाफ वॉक इन वालों के रजिस्ट्रेशन करते गए। इस दौरान यहां तैनात सिविल डिफेंस के जवान कोरोना नियमों का भी पालन कराते दिखे। स्टाफ ने बताया कि इस सेंटर पर एक दिन में 200 लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है।

रोहिणी सेक्टर-24, गवर्नमेंट गर्ल्स स्कूल
यहां 50 प्रतिशत डोज ही ऑनसाइट रजिस्ट्रेशन के जरिए उपलब्ध कराई गई। बाकी 50 प्रतिशत के लिए ऑनलाइन स्लॉट के जरिए आए लोगों को लगाई गई। यहां पानी, पंखा और बैठने की ठीक इंतजाम होने से लोगों को किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई। वॉक इन वाले लोग आसानी से आते गए, और उनका रजिस्ट्रेशन भी होता गया। क्राउड मैनेजमेंट में कई सिविल डिफेंस के जवान लगे रहे।

खिचड़ीपुर, लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल
यहां पर सुबह के वक्त कुछ ही लोग बगैर रजिस्ट्रेशन के वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंचे थे। इसके अलावा खिचड़ीपुर के स्कूल ऑफ एक्सीलेंस में तीन वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए हैं। यहां एक सेंटर पर 150 लोगों को एक दिन में वैक्सीन लग रही है। यहां स्कूल के गेट के अंदर दाखिल होने पर पहले गार्ड लोगों के मोबाइल का मेसेज चेक कर रहे हैं। इसके बाद भी स्कूल के अंदर दाखिल होने दे रहे हैं।लोगों को टोकन दिया जा रहा है। इस सेंटर पर सिर्फ सुबह के वक्त ही वॉक इन में वैक्सीन लगवाने के लिए आ रहे हैं, हालांकि उनकी संख्या भी काफी कम है।

Related Articles

Back to top button