यहाँ और भी जानकारी है। 
Metro

पहलवान मर्डर केस: सुशील के खिलाफ केस में अहम गवाह को मिली कड़ी सुरक्षा

नई दिल्ली: पहलवान से जुड़े छत्रसाल स्टेडियम हत्या मामले के एक अहम गवाह की सुरक्षा का दिल्ली पुलिस ने ऐसा इंतजाम किया है, जिसे भेद पाना आसान नहीं। घटना वाले दिन स्टेडियम में कुमार के हाथों कथित तौर पर पिटाई खाने वालों में से एक इस व्यक्ति की मांग पर यह कदम उठाया गया।

गवाह हरियाणा में रहता है, इसीलिए उसके सुरक्षा घेरे को इस ढंग से तैयार किया गया है, जिससे अधिकार छेत्र को लेकर कोई विवाद पैदा न हो। हरियाणा में रहने के दौरान गवाह और उसके घर के आसपास हर वक्त हरियाणा पुलिस की पैनी नजर रहेगी। संदिग्ध व्यक्ति या सामान को ट्रैप करने के लिए घर या उसके आसपास सुरक्षा उपकरण की मौजूदगी मिलेगी। गवाह को मामले की जांच के सिलसिले में जब कभी दिल्ली बुलाया जाएगा, तो सीमा तक हरियाणा पुलिस और राष्ट्रीय राजधानी के भीतर दिल्ली पुलिस उसकी सुरक्षा का जिम्मा संभालेगी। ये फैसले हाल ही में एक बैठक में लिया गया है। इसमें नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट, रोहिणी कोर्ट के चीफ प्रॉसिक्यूटर, डीसीपी नॉर्थ-वेस्ट, मामले की जांच में जुटे इंस्पेक्टर और गवाहों के वकील मौजूद रहे। आपस में सलाह-मशविरा के बाद कमिटी ने तय किया कि गवाह की दिल्ली से लेकर हरियाणा तक में सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए क्या-क्या कदम उठाने होंगे। इस व्यक्ति को 24 घंटे पुलिस के सुरक्षा घेरे में रखा जाएगा।

जांच अधिकारी ने कमिटी के सामने आवेदन दायर कर गवाह की ओर से सुरक्षा मांगे जाने का मुद्दा उठाया था। इसी साल 3 जून को दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा था कि वह इस व्यक्ति को गवाह सुरक्षा योजना 2018 के तहत सुरक्षा प्रदान करे। याचिका में व्यक्ति ने आरोप लगाया था कि छत्रसाल स्टेडियम में जब यह घटना हुई थी उस समय सुशील कुमार ने उनकी भी पिटाई की थी। एक पहलवान सागर धनखड़ की मौत हो गयी। सुशील कुमार को 23 मई को गिरफ्तार किया गया था। अब वह जेल में बंद है।

Related Articles

Back to top button