यहाँ और भी जानकारी है। 
Metro

Delhi Fire News: 'भैया मुझे बचा लो, धुएं से मेरा दम घुंट रहा है'

उद्योग नगर
भैया फैक्ट्री में आग लग गई है, मेरा दम घुंट रहा है, मुझे किसी तरह बचा लो। काफी धुआं उठ रहा है, कुछ दिखाई नहीं दे रहा है। हम निकलने की कोशिश भी कर रहे हैं, लेकिन गेट के पास नहीं पहुंच पा रहे हैं। अगर ऐसा ही चलता रहा तो हम नहीं बच पाएंगे। यह बात इस फैक्ट्री में काम करने वाले विक्रम ने अपने बड़े भाई अनिल उर्फ अखिल को फोन पर कॉल कर बताई।

अखिल ने बताया कि हम तीन भाई इस गोदाम में काम करते थे। दो भाई विक्रम (21) और सोनू (22) सुबह 8 बजे की शिफ्ट में आते थे। मैं सुबह 9 बजे की शिफ्ट में विक्रम और सोनू के लिए खाना बनाकर लाता था। सोमवार सुबह करीब 8:50 बजे खाना बनाकर टिफन में डाल ही रहा था कि आग लगने की जानकारी मिली। फौरन मौके पर भागकर गया। जब तक आग पूरे गोदाम में फैल गई थी। इस दौरान करीब 10 मिनट भाई से फोन पर बात हुई। हम चाहकर भी अपने भाई की मदद नहीं कर सके। हमने फैक्ट्री के अंदर घुसने की हर कोशिश की, लेकिन हमें कामयाबी नहीं मिली।

इस दौरान बार-बार दमकल कर्मचारियों से भी भाइयों को बाहर निकालने के लिए गुहार लगाता रहा, लेकिन समय पर मेरा भाई बाहर नहीं निकल सका। 10 मिनट बात करने के दौरान भाई ने बोलना बंद कर दिया। 35 घंटे से लगातार यहीं डटे हैं, लेकिन कुछ भी जानकारी नहीं मिल रही है। अंतिम 10 मिनट तक जो भाई से बातें हुई है, वह आवाज मेरे कानों में बार-बार गूंज रही है। रोजाना की तरह भाई के लिए खाना बनाया, लेकिन हमें यह पता नहीं था कि यह खाना शायद अब भाई नहीं खा सकेगा। भाई की खबर सुनकर माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्य भी आजमगढ़ से मौके पर पहुंच गए। इस उम्मीद के साथ यहां भूखे-प्यासे बैठे हैं, शायद उनका बेटा सही-सलामत बाहर आ जाए।

Related Articles

Back to top button