यहाँ और भी जानकारी है। 
State

कश्मीर में फिर भूकंप के झटके, जानें क्यों बार-बार हिलती 'जन्नत' की धरती


श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर में सोमवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए। सुबह लगभग 8:33 बजे आए इन भूकंप के झटकों के बाद लोग डरकर अपने घरों के बाहर निकल आए। हालांकि भूकंप की तीव्रता ज्यादा नहीं होने से किसी भी जान या माल के नुकसान होने की सूचना नहीं आई है। बीते एक साल में राज्य में कई बार भूकंप आ चुका है।

नैशनल सेंटर फॉर सिसमोलॉजी की ओर से जारी की गई सूचना में बताया गया है कि रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 3.7 मापी गई है। आपको बता दें कि इससे पहले तीन दिसंबर को लद्दाख में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 3.5 मापी गई थी।

4 हिस्सों में बंटा है भारत का भूकंप जोन
भारतीय मानक ब्यूरो ने विभिन्न एजेंसियों से प्राप्त वैज्ञानिक जानकारियों के आधार पर पूरे भारत को चार भूकंपीय जोनों में बांटा है। इसमें सबसे ज्यादा खतरनाक जोन 5 है। वैज्ञानिकों के अनुसार, इस क्षेत्र में रिक्टर स्केल पर 9 तीव्रता का भूकंप आ सकता है। जानिए भारत का कौन सा क्षेत्र किस जोन में स्थित है।

जोन 5
जोन-5 में पूरा पूर्वोत्तर भारत, जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्से, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड गुजरात में कच्छ का रन, उत्तर बिहार का कुछ हिस्सा और अंडमान निकोबार द्वीप समूह शामिल है। इस क्षेत्र में अक्सर भूकंप आते रहते हैं।

जोन-4
जोन-4 में जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के बाकी हिस्से, दिल्ली, सिक्किम, उत्तर प्रदेश के उत्तरी भाग, सिंधु-गंगा थाला, बिहार और पश्चिम बंगाल, गुजरात के कुछ हिस्से और पश्चिमी तट के समीप महाराष्ट्र का कुछ हिस्सा और राजस्थान शामिल है।

जोन-3
जोन-3 में केरल, गोवा, लक्षद्वीप द्वीपसमूह, उत्तर प्रदेश के बाकी हिस्से, गुजरात और पश्चिम बंगाल, पंजाब के हिस्से, राजस्थान, मध्यप्रदेश, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और कर्नाटक शामिल हैं।

जोन-2
जोन-2 भूकंप की दृष्टि से सबसे कम सक्रिय क्षेत्र है। इसे सबसे कम तबाही के खतरे वाले क्षेत्र की श्रेणी में रखा गया है। जोन-2 में देश का बाकी हिस्से शामिल हैं।

Related Articles

Back to top button