यहाँ और भी जानकारी है। 
Metro

Photo: नई दिल्ली रेलवे स्टेशन की जल्द बदलेगी तस्वीर, बनेगा वर्ल्ड क्लास स्टेशन

नई दिल्ली
दिल्ली में कोविड की दूसरी लहर के बावजूद सबसे बिजी रहने वाले को वर्ल्ड क्लास बनाने की प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ रही है। उम्मीद की जा रही है कि इस स्टेशन को रिडिवेलप करने का कार्य तय समय पर ही शुरू हो जाएगा। फिलहाल इस स्टेशन को बड़े हब के रूप में तब्दील करने के लिए फिलहाल नौ ऐसी कंपनियों की पहचान कर ली गई है, जिनमें से किसी को इस योजना को अमलीजामा पहनाने की जिम्मेदारी दी जा सकती है।

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को रिडिवेलप करने की जिम्मेदारी संभाल रही रेल लैंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (आरएलडीए) के वाइस चेयरमैन वेद प्रकाश डुडेजा के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान ही अथॉरिटी के अधिकारियों ने इस स्टेशन को रिडिवेलप करने में रुचि दिखाने वाली नौ राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के दावों संबंधी दस्तावेजों की जांच पड़ता का कार्य पूरा कर लिया है। अब जल्द ही इसके लिए टेंडर किया जाएगा। आरएलडीए को उम्मीद है कि टेंडर के बाद अगले चार से पांच महीने के भीतर ही इस स्टेशन का रिडिवेलपमेंट करने के लिए किसी कंपनी का चयन कर लिया जाएगा।

अधिकारियों का कहना है कि चूंकि यह महत्वपूर्ण और महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट है इसलिए इसकी हर प्रक्रिया पर बारीकी से नजर रखी जा रही है ताकि भविष्य में इस प्रोजेक्ट में किसी तरह की कोई अड़चन न आए। अब अथॉरिटी आरएफीपी यानी रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल के दस्तावेज तैयार कर रही है। उम्मीद है कि आरएफपी के दस्तावेज अगले एक से डेढ़ महीने में तैयार हो जाएंगे। उसके बाद कंपनियों को अपने प्रस्ताव देने के लिए तीन से चार महीने का वक्त दिया जाएगा। अगर सब कुछ ठीक रहा तो इसी वित्तीय साल में टेंडर फाइनल कर दिया जाएगा ओर फिर दो से तीन महीने में जमीन पर काम शुरू हो जाएगा।

लागत 6500 करोड़ रुपये, देश-विदेश की कंपनियां रेस में
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को चरणबद्ध तरीके से पुनर्विकसित करने के लिए आरएलडीए ने जो महत्वाकांक्षी परियोजना तैयार की है, उसके तहत इस स्टेशन को ट्रांजिट ओरिएंटेड डिवेलपमेंट (TOD) के कॉन्सेप्ट पर नए सिरे से डिजाइन और डिवेलप किया जाएगा। चूंकि इस परियोजना की अनुमानित लागत करीब 6500 करोड़ रुपये है, इसी वजह से देश-विदेश की कई नामी कंपनियां इस प्रोजेक्ट से जुड़ने के लिए बेताब हैं।

Related Articles

Back to top button